सीएम योगी ने किया Bundelkhand Expressway का निरीक्षण, ललितपुर में ‘बंदई बांध’ का शुभारंभ

सीएम योगी यूपी के जिले ललितपुर में 'बंदई बांध' का शुभारंभ किया और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का किया निरीक्षण

ललितपुर: उत्तर प्रदेश के जिले ललितपुर (Lalitpur) में ‘बंदई बांध’ के शुभारंभ के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि ललितपुर में एक ‘हवाई अड्डे’ का निर्माण किया जाएगा। अब आप यहां से जहां भी जाना चाहते हैं, कुछ ही समय में जा पाएंगे। जल्द ही जिले में एक मेडिकल कॉलेज भी स्थापित किया जाएगा।

जनपद ललितपुर में लोकार्पण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने 55 साल तक देश में राज किया। वे गरीबों के लिए काम नहीं करते थे और विकास की परियोजनाओं को भी आगे नहीं बढ़ाते थे।”  उन्होंने यह भी कहा कि “बुंदेलखंड के युवाओं को रोजगार मिल सके, हर खेत को पानी मिल सके और हर घर में नल की योजना आ सके, इस परिकल्पना को साकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है।

सीएम ने बोला कि कोई सोचता था बुंदेलखंड के बारे में कि यहां एक्सप्रेसवे बनेगा। इससे लोगों के लिए दिल्ली और लखनऊ की राह आसान होगी। औद्योगिक विकास होगा तो युवाओं को रोज़गार मिलेगा। लेकिन अब सरकार ने तय किया है कि यहां भी अच्छी कनेक्टिविटी देंगे।

यह भी पढ़ेInternational Women’s Day : शिव की भक्ति में लीन हुईं 1000 महिलाएं, दीयों की रौशनी से जगमगाया Kashi

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे

सीएम योगी आदित्यनाथ ने जालौन (Jalaun) जिले में ‘बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे’ (Bundelkhand Expressway) के निर्माण कार्य का निरीक्षण भी किया। उस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार की नेक नीति और दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ काम करने का जज़्बा हो तो विकास का काम तेजी से आगे बढ़ सकता है। हम इस एक्सप्रेसवे का लगभग 50 फीसदी काम पूरा कर चुके हैं।

UPEIDA द्वारा विकसित

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश राज्य में एक 296 किमी, चार लेन एक्सेस नियंत्रित एक्सप्रेसवे है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अप्रैल 2017 को परियोजना का नए सिरे से शुभारंभ किया गया था। विस्तृत मार्ग बुंदेलखंड के चित्रकूट धाम (कार्वी) से शुरू होगा, उसके बाद यह मार्ग चित्रकूट धाम (करवी) – बांदा, उत्तर प्रदेश-रथ- ओरई- जालौन-औरैया-इटावा होगा जहां यह आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे से जुड़ जाएगा।

इसे UPEIDA द्वारा विकसित किया जाना प्रस्तावित है। उत्तर प्रदेश सरकार ने फ्लैगशिप बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के लिए भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया को तेज कर दिया है, जिसकी लागत including 14,716 करोड़ है

यह भी पढ़ेUttarakhand: खतरे में त्रिवेंद्र रावत की कुर्सी!, शाम तक दे सकते हैं इस्तीफा

Related Articles