स्मार्टफोन वितरित कर सीएम योगी ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बनाया स्मार्ट

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर को नियंत्रित करने में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के अथक प्रयासों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन वितरित किए और कहा कि स्मार्ट आंगनबाडी देश के सर्वांगीण विकास की नींव होंगे बच्चे।

उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन और टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से उनका काम और भी स्मार्ट हो जाएगा। आदित्यनाथ ने मंगलवार को लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में 1,23,000 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन बांटते हुए कहा, ”स्मार्टफोन आपके काम को और भी स्मार्ट बना देंगे और यही स्मार्टनेस आपकी पहचान होनी चाहिए, दैनिक कार्य आसान और पारदर्शी।”

विकास निगरानी उपकरण किए प्रदान

मुख्यमंत्री ने नवजात बच्चों के विकास के स्तर को मापने के लिए प्रत्येक आंगनवाड़ी केंद्र को 1,87,000 नवजात विकास निगरानी उपकरण (इन्फैंटोमीटर) भी वितरित किए। उन्होंने 20 श्रमिकों को स्मार्टफोन भी सौंपे, जबकि 10 को विकास निगरानी उपकरण प्रदान किए गए। शेष उपकरणों का वितरण स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा जिलों में किया गया।

आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 से पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्ता केवल विरोध प्रदर्शन के लिए जानी जाती थीं लेकिन अब वे पूरी प्रतिबद्धता के साथ बच्चों के पोषण और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की सराहना

उन्होंने कहा कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान, ग्रामीण क्षेत्रों में बीमारी के प्रसार की जांच के लिए निगरानी समितियों का गठन किया गया था। इन समितियों के सदस्य के रूप में आंगनबाडी कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर चिकित्सा किट उपलब्ध करायी और लोगों को टीके के प्रति जागरूक किया।

कार्यकर्ताओं ने लोगों की धारणा बदली

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने समर्पण और काम से कार्यकर्ताओं ने लोगों की धारणा बदली है। उन्होंने आगे कहा कि यदि उत्तर प्रदेश ने एन्सेफलाइटिस रोग को 95-97 प्रतिशत तक सफलतापूर्वक समाप्त कर दिया है, तो इसका श्रेय आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को जाता है।

Related Articles