IPL
IPL

आत्मनिर्भर भारत की लगेगी सबसे बड़ी प्रदर्शनी, CM योगी करेंगे शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आत्मनिर्भर भारत की सबसे बड़ी प्रदर्शनी का मुख्यमंत्री योगी बुधवार को शुभारंभ करने जा रहे हैं।

लखनऊ: प्रधानमंत्री ( Prime minister ) नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आत्मनिर्भर भारत की सबसे बड़ी प्रदर्शनी का मुख्यमंत्री ( Chief Minister ) योगी बुधवार को शुभारंभ करने जा रहे हैं। दीनदयाल हस्तकला संकुल बड़ा लालपुर में बुधवार से शुरू होने जा रही प्रदर्शनी में 16 जिलों के 50 जीआई उत्पादों के स्टाल लगाए जाएंगे।

प्रदर्शनी में हस्त शिल्पियों के लिए सेमिनार और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस दौरान उन्हें भारत सरकार के सहयोग से मुफ्त टूल किट दिए जाएंगे। फिक्की के सहयोग से आयोजित इस फिजिकल और वर्चुअल प्रदर्शनी का मुख्यमंत्री योगी बुधवार को शुभारंभ करेंगे।

50 जीआई उत्पादों के स्टाल

प्रदर्शनी में प्रदेश के जीआई उत्पादों के साथ जीआई उत्पाद होने कि प्रक्रिया में शामिल उत्पाद भी होंगे। प्रदर्शनी के साथ ही हस्तशिल्पियों को तकनीकी जानकारी और प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रदर्शनी में वाराणसी, भदोही, चंदौली, गाजीपुर, मिजार्पुर, आजमगढ़, बुलंदशहर, फरुखाबाद, फिरोजाबाद, गोरखपुर, कानपुर, कन्नौज, लखनऊ, प्रयागराज, सहारनपुर और सिद्धार्थनगर के 50 जीआई उत्पादों के स्टाल लगाए जाएंगे।

जीआई उत्पादों के लिए तकनीकी उन्नयन प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत 240 शिल्पियों को प्रशिक्षण, 600 को साफ्ट स्किल ट्रेनिंग के साथ 270 शिल्पियों को नई तकनीक का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

इसके दौरान 2000 शिल्पियों को उन्नत टूल किट दिए जाएंगे। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत 300 और ओडीओपी प्रशिक्षण योजना के तहत 300 लाभार्थियों को हैण्डलूम टूल किट दिए जाएंगे। इसके साथ ही पीएमईजीपी, एमवाईएसवाई, ओडीओपी मार्जिन मनी ऋण योजना के तहत हर योजना के दो लाभार्थियों को चेक वितरित किया जाएगा।

इस प्रदर्शनी के जरिए

24 जनवरी तक चलने वाली इस प्रदर्शनी के जरिए योगी सरकार ब्रांड यूपी का नया आयाम सामने लाने की तैयारी में है। प्रदर्शनी में 28 अद्वितीय जीआई उत्पाद भी प्रदर्शित किए जाएंगे। जिनमें से 7 वाराणसी के हैं।

इस कार्यक्रम के जरिए सरकार खरीदारों और विक्रेताओं को संवाद के लिए फिजिकल और वर्चुअल प्लेटफार्म देगी। इस दौरान राज्य सरकार सेमिनार आयोजित कर अलग अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञों के जरिये जीआई उत्पादों की विशेषता, उपयोगिता, अवसर और व्यापार को बढ़ावा देने का हुनर भी सिखाएगी।

यह भी पढ़े: सोमनाथ भारती की रिहाई, विवादित वयान को लेकर हुई थी जेल 

Related Articles

Back to top button