सीएम योगी का बड़ा ऐलान, COVID-19 के कारण दिवंगत पत्रकारों के परिजनों को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने COVID-19 के कारण मारे गए पत्रकारों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपये की सहायता की घोषणा की है

लखनऊ: हिंदी पत्रकारिता दिवस (Hindi Journalism Day) के अवसर पर, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने COVID-19 के कारण मारे गए पत्रकारों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपये की सहायता की घोषणा की है।

कोरोना काल में कवरेज के करने के दौरान कई पत्रकार संक्रमित हो गए थे। जिसके कारण कई पत्रकारों का निधन हो गया था। ऐसी स्थिति में उनके परिवारों के पालन-पोषण में कठिनाई आ गई है। जिसे देखते हुए उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने दिवंगत पत्रकारों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपये की सहायता की घोषणा की है। इससे पहले सीएम योगी ने कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों के लिए एक विशेष योजना लागू करने का निर्णय लिया है।

UP में संक्रमण का आंकड़ा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह भी बताया कि कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में सिर्फ 1,900 कोरोना मामले आएं हैं। कहा जा रहा था कि मई में उत्तर प्रदेश में 30 लाख से ज्यादा मामले होंगे। आज राज्य में कुल 41 हजार सक्रिय मामले हैं। हमारी सबसे ज्यादा रिकवरी दर है। सबसे कम पॉजिटिविटी दर और मृत्यु दर है।

55 जनपदों में कर्फ्यू में ढील

सीएम योगी ने बोला कि जिन जनपदों में 600 से ज्यादा सक्रिय मामले हैं वहां पर एक और हफ्ते के लिए कोरोना कर्फ्यू जारी रहेगा। आज 55 जनपदों में हमने कोरोना कर्फ्यू में ढील दी है। सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक कुछ शर्तों के साथ ढील दी जाएगी।

यूपी के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक UP में कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 41,214 रह गई है जो हमारे 30 अप्रैल की पीक संख्या 3,10, 783 की तुलना में 86.75% कम है। आज 1,908 पॉजिटिव मामले आए हैं जो 24 अप्रैल को आए 38,055 मामलों की तुलना में लगभग 5% रह गए हैं।

यह भी पढ़ेहिंदी पत्रकारिता दिवस 2021: जानिए इस दिन का इतिहास, ब्रिटिशों के लिए मुसीबत बना यह समाचार पत्र

Related Articles