जौनपुर में नहीं चला CM योगी का जादू, भाजपा और बसपा समेत 14 की जमानत जब्त

मल्हनी विधानसभा के उपचुनाव में पहली बार कमल खिलाने की भाजपा की सारी कवायद फेल हो गयी. सपा और निर्दल प्रत्याशी के बीच कांटे की टक्कर में भाजपा प्रत्याशी की जमानत तक नहीं बची.

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले के मल्हनी विधानसभा उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के प्रत्याशियों समेत 14 की जमानत जब्त हो गई.

मल्हनी विधानसभा के उपचुनाव में पहली बार कमल खिलाने की भाजपा की सारी कवायद फेल हो गयी. सपा और निर्दल प्रत्याशी के बीच कांटे की टक्कर में भाजपा प्रत्याशी की जमानत तक नहीं बची. उधर बसपा उम्मीदवार की भी जमानत जब्त हो गयी. भाजपा की करारी हार ने जहां दो बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ की जनसभा पर पानी फिर गया वही दोनो डिप्टी उप मुख्यमंत्रियों और नगर विधायक एवं राज्यमंत्री गिरीश चंद्र यादव समेत आधा दर्जन से अधिक मंत्रियों की जिले में लोकप्रियता पर सवालिया निशान लग गया.

मल्हनी विधानसभा उप चुनाव कुल तीन लाख 65 हजार 13 मतदाता है जिसमें से दो लाख सात हजार 89 मतदाताओ ने अपने मतो का प्रयोग किया था. आज मतगणना में सपा प्रत्याशी लकी यादव को 73 हजार 384 वोट मिला, निर्दल प्रत्याशी धनंजय सिंह को 68 हजार 780 मत मिला. भाजपा उम्मीदवार मनोज सिंह को 28 हजार 803 और बसपा के जेपी दुबे को 25 हजार 168 वोट मिला जबकि कांग्रेस प्रत्याशी राकेश मिश्रा उर्फ मंगला गुरू के खाते में मात्र 2868 मत आया.

निर्वाचन आयोग के नियम मे अनुसार जमानत बचाने के लिए कुल पड़े मतों के छठवां हिस्सा वोट पाना आवश्यक है. इसके हिस्साब से जमानत बचाने के लिए 34 हजार पांच सौ वोट मिलना चाहिए था. धनंजय को छोड़कर भाजपा, बसपा समेत सभी प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गयी.

यह भी पढ़े: नीतीश से चिराग की बैर ने 17 सीटों पर बिगाड़ दिया जदयू का खेल

Related Articles

Back to top button