को-वैक्सीन निकली बेवफा, टीका लगवाने के बाद कोरोना के शिकार हुए डॉक्टर

लखनऊ: देशभर में कुछ दिनों पहले कोरोना संक्रमण में आई कमी के बाद एक बार से उछाल आ रही है। उत्तर प्रदेश में पांच दिनों से लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे है। वहीं एक और बुरी खबर आई है कि जिस कोरोना वैक्सीन (Co-vaccine) पर सभी को भरोसा था आज वहीं बेवफा निकली। लखनऊ के डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्पताल के एक डॉक्टर को-वैक्सीन (Co-vaccine) की डोज लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। प्रदेश में यह पहला मामला सामने आया है कि कोरोना टीका लगवाने के बाद कोई संक्रमित हुआ हो।

जानकारी के मुताबिक, यूपी में कोरोना वायरस की तेज गति से टेस्टिंग के साथ ही वैक्सीनेशन भी तेजी से हो रहा है। वहीं राजधानी लखनऊ के डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्पताल के डॉक्टर नितिन इमरजेंसी में ड्यूटी करते है। उन्हें करीब तीन दिन पहले जुकाम के साथ हल्का बुखार आया था। इस पर उन्होंने कोरोना की जांच के लिए केजीएमयू में सैंपल भेजवाया। सोमवार दोपहर को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई और हड़कंप मच गया। डॉक्टर ने वैक्सीन की पहली डोज 15 फरवरी और दूसरी डोज 16 मार्च को ली थी।

ये भी पढ़ें : जानिए कौन है भारत के Warren Buffet, जिनके स्टॉक इंवेस्टमेंट्स कर रहे हैं धमाल

18 मार्च से छुट्टी पर थे नितिन

आपको बता दें कि वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के 21 दिन बाद एंटीबॉडी बनना शुरू होता है। सीएमएस डॉ. एसके नंदा ने बताया है कि 18 मार्च से ईएमओ नितिन अवकाश पर थे और 17 मार्च को उन्होंने ड्यूटी की थी। इस दौरान उनके संपर्क में आए सभी स्टाफ व मरीजों की जांच कराई जाएगी। प्रदेश में संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही कोविड अस्पतालों में अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें : कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, सरकार ने स्कूलों में लगा दिया ताला, जानें कब तक बंद रहेंगे स्कूल

 

Related Articles