बस कुछ घंटे और….जब अंधेरे में डूब जाएगी दिल्ली

नई दिल्ली। दिल्लीवासियों के लिए 20 घंटे के बाद एक बड़ी मुश्किल खड़ी हो सकती है। इस भीषण गर्मी में कभी भी बिजली सप्लाई बंद हो सकती है। दरअसल दिल्ली को बिजली स्पलाई करने वाले पवार प्लांट के पास बस 20 घंटे का ही कोयला बचा है। इसके बाद दिल्ली में बिजली संकट गहरा सकता है।

दिल्लीवासियों

वर्तमान में बिजली के प्लांट में एक दिन का कोयला भी नहीं है। इस बात की जानकारी दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन ने खुद दी। उन्होंने कहा कि  प्‍लांट में सिर्फ 20 घंटे की बिजली के लायक ही कोयला बचा है। इस बारे में केंद्र सरकार को भी सूचना दे दी गई थी लेकिन कुछ नहीं हुआ।

इस दौरान इसके लिए उन्होंने बीजेपी सरकार जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि 17 मई को ही गोयल को पत्र लिखा था मगर उन्होंने जवाब नहीं दिया। आज दिल्ली में बिजली पैदा करने के लिए 1 दिन के भी कोयले नहीं बचे हैं।

उन्होंने कहा कि झज्‍जर, दादरी, बदरपुर पावर प्‍लांट में 2426 मेगावॉट दिल्‍ली के लिए आवंटित है। इन प्‍लांट में 15 से 20 दिन का कोयला होना चाहिए लेकिन फिलहाल एक दिन का कोयला भी नहीं है। इनमें केवल 20 घंटे का ही कोयला बचा है।

आपको बता दें कि इससे पहले तकनीकी कारणों से बंद पड़ी 490 मेगावाट की एक इकाई को एनटीपीसी दादरी ने शुरू कर दी। गत 25 मई से ये इकाई बंद पड़ी थी। आपको बता दें कि बिजली की कमी की वजह से पिछले कुछ दिनों से दिल्लीवासियों को बिजली की भारी कटौती का सामना करना पड़ रहा है।

Related Articles