नए साल ( New year ) में बढ़ेगी ठंड ( Cold ) ! तीन दिन यूपी में होगी बारिश

नए साल ( New year ) में मौसम काफी ठंड ( Cold ) होने वाला है। उत्तराखंड ( Uttarakhand ) और पहाड़ी राज्‍यों में भयंकर बर्फबारी होने की वजह से इसका असर मैदानी इलाकों में शीतलहर के रूप में देखने को मिल रहा है।

लखनऊ: नए साल ( New year ) 2021 में मौसम काफी ठंड ( Cold ) होने वाला है। उत्तराखंड ( Uttarakhand ) और पहाड़ी राज्‍यों में भयंकर बर्फबारी होने की वजह से इसका असर मैदानी इलाकों में शीतलहर के रूप में देखने को मिल रहा है। इसी कारण उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) के सभी जिलों में शीतलहर चल रही है और लोग ठंड ( Cold ) से ठिठुर रहे है। बढ़ते ठंड ( Cold ) की वजह से मौसम विभाग ( weather department ) ने यूपी ( UP ) में अलर्ट जारी कर दिया है। देश की राजधानी दिल्‍ली ( Delhi ) में बुधवार को 3.5 डिग्री पारा गिर गया है। वहीं, राजस्‍थान ( Rajasthan ) के चुरू में भी -1.5 डिग्री तापमान के साथ भयंकर शीतलहर चल रही है।

मौसम विभाग ( weather department ) ने अलर्ट जारी करते हुए बताया है कि यूपी की राजधानी लखनऊ ( Lucknow ) समेत कई जिलों में 4 व पांच जनवरी को जमकर बारिश हो सकती है। बारिश के कारण ठंड और बढ़ जाएगी। मौसम विभाग ( weather department ) ने बताया कि नए साल की पूर्व संध्या पर तापमान और भी गिर सकता है। लखनऊ में तापमान 8 डिग्री दर्ज किया गया है। अगले दो दिन में एक डिग्री और कम होने का अनुमान है।

ये भी पढ़ें : अजय लल्लू (Ajay Lallu) का बड़ा बयान, गौ प्रेम का दिखावा कर रही योगी सरकार

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र लखनऊ ( Zonal Meteorological Center Lucknow ) के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) में नए साल 2021 में अधिक ठंड बढ़ेगी। जम्मू-कश्मीर ( Jammu and Kashmir ) के पास विक्षोभ बना रहेगा। इसी के चलते यूपी के मौसम में भी बड़े बदलाव आएंगे।

ये भी पढ़ें : अदन Airport पर नए मंत्रियों का विमान लैंड होने के बाद हुआ बड़ा धमाका, 13 की मौत

दो-तीन जनवरी को होंगी बूंदाबांदी

पश्चि‍मी यूपी में दो-तीन जनवरी को बूंदाबांदी होंगी जिसके बाद ठंड बढ़ने का अनुमान है। इस बीच राजधानी लखनऊ सहित अन्य पूर्वी जिलों में बादलों में बदलाव बने रहेंगे, चार-पांच जनवरी को बूंदाबांदी के आसार हैं। इसी के साथ शहरों में ठंडी हवा भी चलेंगी। कई जिलों में बुधवार सुबह को ठंडी हवा से गलन बढ़ गई।

Related Articles