PM मोदी का सराहनीय कार्य, 5 महीने की बच्ची के इलाज में की मदद

मुंबई ( Mumbai ) के एक अस्पताल में 5 महीने की एक बच्ची का इलाज चल रहा था। जिसका नाम तीरा कामत ( Teera Kamat ) बताया जा रहा है।

मुंबई: मुंबई ( Mumbai ) के एक अस्पताल में 5 महीने की एक बच्ची का इलाज चल रहा था। जिसका नाम तीरा कामत ( Teera Kamat ) बताया जा रहा है। बच्ची की माता-पिता  प्रियंका कामत और मिहिर कामत  ने बताया कि तीरा कामत को स्‍पाइनल मस्‍कुलर एट्रोफी ( Spinal muscular atrophy ) नाम की बिमारी है।

डाक्टर के मुताबिक यह बिमारी ऐसा है कि जिसका इलाज Zolgensma नाम के एक खास इंजेक्‍शन ( Injection ) से ही होता है। और इस इंजेक्‍शन  को अमेरिका ( America ) से मंगाना पड़ता है। इससे इलाज की कीमत 16 करोड़ रुपए लगती है। अगर इसमें टैक्स और इम्‍पोर्ट ड्यूटी जोड़कर देखा जाए तो इसकी कीमत कुल 22 करोड़ तक हो जाती है।

Teera Kamat
Teera Kamat

आपको बता दे कि किसी मध्यम परिवार को इस बिमारी का इलाज कराना संभव नही है। ऐसे में मिहिर और प्रियंका ने क्राउडफंडिंग ( Crowdfunding ) के जरिए यह रकम जुटाने की सोची। ANI के मुताबिक, उन्‍होंने करीब 15 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं।

सोशल मीडिया पर की अपील

मिहिर और प्रियंका ने सोशल मीडिया ( social media ) पर अपील में लिखा कि दवाओं पर 23% इम्‍पोर्ट ड्यूटी और 12% जीएसटी लगता है जो इलाज के खर्च को और बढ़ा देता है। उन्‍होंने कहा कि दवा को भारत लाने में काफी सारा पेपरवर्क करना पड़ता है जिसमें करीब एक महीने का वक्‍त लग जाता है। इन सबके बीच तीरा जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है।

तीरा के पैरंट्स की अपील पर महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ( Devendra Fadnavis ) की नजर पड़ी और उन्होंने प्रधानमंत्री ( Prime minister )  नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी। फडणवीस ने केंद्र से इम्‍पोर्ट ड्यूटी और जीएसटी माफ करने को कहा। केंद्र ने यह दरख्‍वास्‍त मान ली और करीब छह करोड़ रुपये का टैक्‍स माफ कर दिया। फडणवीस ने मंगलवार को प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिखकर शुक्रिया अदा किया।

यह भी पढ़ें:  लखनऊ पुलिस की दबंगई, थाने में दी थर्ड डिग्री टार्चर

Related Articles

Back to top button