रिलायंस का समेकित लाभ जुलाई-सितंबर तिमाही में 15 प्रतिशत घटा

वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान 9,567 करोड़ रुपये का समेकित शुद्ध लाभ दर्ज किया।

नई दिल्ली: बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देश की सबसे मूल्यवान कंपनी मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड। जिसमें चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान 9,567 करोड़ रुपये का समेकित शुद्ध लाभ दर्ज किया। यह पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 15.05 फीसदी कम है। पिछले वित्त वर्ष में जुलाई-सितंबर की तिमाही में यह 11,262 करोड़ रुपये था।

कंपनी ने शुक्रवार को नियामक सूचना में बताया कि इस दौरान आय घटकर 1.2 लाख करोड़ रुपये रही। जो पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1.56 लाख करोड़ रुपये थी। नतीजों पर रिलायंस ने कहा , “दूसरी तिमाही में समूह के कामकाज और आय पर कोरोना वायरस महामारी का प्रभाव रहा है।” एशिया के सबसे अमीर रिलायंस अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने कहा “।

पिछली तिमाही के मुकाबले में कंपनी कामकाज और वित्तीय रूप से बेहतर प्रदर्शन करने में सफल रही है। समूह के पेट्रोकेमिकल और खुदरा कारोबार वर्ग में सुधार आया है। साथ ही डिजिटल सेवा कारोबार भी लगातार बढ़ रहा है। हमारे ओ-टू-सी कारोबार में घरेलू मांग में तेज सुधार आया है और कई उत्पादों की मांग कोरोना वायरस के पहले के स्तर पर पहुंच गई है।”

कोरोना की चुनौती के बावजूद रिलायंस ने चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में 30 हजार रोजगार के अवसर पैदा किये। रिलायंस पेट्रोकेमिकल्स का दूसरी तिमाही का रिफ़ाइनिंग मार्जिन 5.7 प्रति बैरल रहा। सिंगापुर बेंचमार्क के मुकाबले प्रीमियम भी 5.7 प्रति बैरल ही रहा क्योंकि बेंचमार्क शून्य पर ही अटका रहा।

तिमाही में रिलायंस रिटेल का राजस्व पिछली तिमाही के मुकाबले तीस प्रतिशत बढ़कर 41,100 करोड़ रुपये हो गया। इस दौरान रिलायंस रिटेल का शुद्ध लाभ 125.8 प्रतिशत बढ़कर 973 करोड़ रुपये रहा। रिलायंस रिटेल ने तिमाही में 125 नए स्टोर खोले। अब रिलायस रिटेल के 11,931 फ़िज़िकल स्टोर काम कर रहे हैं।

इसे भी पढ़े: फिल्म ‘पिप्पा’ में एक साथ नज़र आयेंगे एक्टर इशान खट्टर और मृणाल ठाकुर 

Related Articles

Back to top button