जॉर्ज फ्लॉयड केस में हुआ Compromise :FLOYD के परिवार को मिलेंगे 196 करोड़ रुपए

मिनेसोटा : मिनेपोलिस में पिछले साल 25 मई को Floyd को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया था। अब इसे पुलिस की लापरवाही कहें या हादसा गिरफ्तार करते वक़्त ही Floyd की मौत हो गई थी। जिसके बाद अमेरिका सहित दुनिया भर में ब्लैक लाईव्ज़ मैटर प्रोटेस्ट हुए थे।

अब अमेरिका के इस मशहूर जॉर्ज फ्लॉयड केस में समझौता हो गया है।

यह समझौता मिनेपोलिस की सिटी काउंसिल और फ्लॉयड के परिवार के बीच हुआ है। समझौता 2.7 करोड़ डॉलर (करीब 196 करोड़ रुपए) में हुआ है। हालांकि,एक्स पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन जिस की वजह से फ्लॉएड की डेथ हुई थी उस के ऊपर मामला चलता रहेगा।

वोटिंग से हुआ है कोम्प्रोमाईज़ का फैसला

समझौते को लेकर काउसिंल मेंबर्स ने निजी तौर पर मुलाकात की। इसके बाद वे पब्लिक सेशन के लिए आए और उन्होंने कोम्प्रोमाईज़ के पक्ष में वोट किया। फ्लॉयड परिवार के वकील बेन क्रम्प ने इसे नागरिक अधिकारों के दावे के लिए अब तक का सबसे बड़ा समझौता करार दिया।

सिटीजन राइट के हनन का दायर किया था मामला

यह सेटलमेंट फ्लॉयड परिवार की ओर से पिछले साल जुलाई में मिनेपोलिस एडमिनिस्ट्रेशन के खिलाफ सिटीजन राइट के हनन को लेकर दायर किए गए मामले के रिजल्ट है।

छह जजेज़ की बेंच करेगी चौविन मामले की सुनवाई

वहीं,फ्लॉयड की मौत के मामले में चौविन के खिलाफ सुनवाई के लिए लोगों को चुना गया है। जज ने इस मामले में चौविन के खिलाफ थर्ड डिग्री मर्डर के आरोप तय किए हैं ।

पिछले साल 25 मई को फ्लॉयड की मौत हुई थी

मिनेपोलिस में पिछले साल 25 मई को फ्लॉयड को पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया था। इससे पहले पुलिस अफसर डेरेक चॉविन ने फ्लॉयड को सड़क पर दबोचा था और अपने घुटने से उसकी गर्दन को करीब आठ मिनट तक दबाए रखा था। फ्लॉयड के हाथों में हथकड़ी थी।

घटना का वीडियो भी वायरल हुआ था । जिसमें उसने कहा, ‘आपका घुटना मेरे गर्दन पर है। मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं…।’’ धीरे-धीरे उसकी हरकत बंद हो जाती है। इसके बाद अफसर कहते हैं, ‘उठो और कार में बैठो’, तब उसकी कोई प्रतिक्रिया नहीं आती। इस दौरान आस-पास काफी भीड़ जमा हुई। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

Related Articles