2019 की राह कांग्रेस के लिए आसान नहीं, MP में मचा बवाल, समर्थक दे रहे इस्तीफा

0

भोपाल। एक तरफ कर्नाटक में कांग्रेस अपनी जीत का जश्न में शामिल हो रही है तो वहीँ दूसरी तरफ मध्य प्रदेश में घमासान मचा हुआ है। नेता और समर्थका इस्तीफा दे रहे हैं। पूर्व कांग्रेस सांसद मीनाक्षी नटराजन के समर्थकों ने नीमच, मंदसौर और रतलाम में बड़े पैमाने पर पार्टी पदों से इस्तीफे देने शुरू कर दिए हैं।
मीनाक्षी नटराजनआपको बता दें कि लिए 6 जून को कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मंदसौर आ रहे हैं लेकिन उसके पहले ही कांग्रेस में फूट पड़ चुकी है। इस कलह की वजह राजेंद्र सिंह गौतम है, जिन्हें प्रदेश कांग्रेस की समन्वय समिति का सदस्य बनाया गया है। राजेंद्र सिंह गौतम को कांग्रेस से निष्कासित कर दिया गया था।

जिसके चलते पूर्व सांसद और राहुल गांधी की करीबी मीनाक्षी नटराजन के समर्थकों ने नीमच, मंदसौर और रतलाम में इस्तीफे दे दिए हैं। इस मामले में सबसे पहले जिला कांग्रेस मंदसौर के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले नटराजन के खास महेंद्र गुर्जर ने कहा कि राजेंद्र सिंह गौतम 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की अधिकृत प्रत्याशी मीनाक्षी नटराजन के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़े थे, जिस पर उन्हें 6 साल के लिए निष्काषित किया गया था। उसके बाद उन्होंने 2013 में मंदसौर से विधानसभा का अधिकृत प्रत्याशी था।

इतना ही नहीं गौतम ने मेरे खिलाफ भी काम किया। अभी तक उनके निष्कासन की अवधी भी पूरी नहीं हुई है  और उन्हें समन्वय समिति का मेंबर बना दिया। उन्होंने कहा कि इस बात से सभी नाराज हैं। उनके साथ करीब आधा दर्जन ब्लॉक अध्यक्षों और करीब एक दर्जन मंडलम अध्यक्षों ने भी पार्टी के पदों से इस्तीफे सौंप दिए हैं। इसके अलावा नीमच में मीनाक्षी नटराजन दर्जनों समर्थकों ने पार्टी छोड़ने का ऐलान किया है।

loading...
शेयर करें