इस नेता को पीएम बनाने के लिए राहुल गांधी भी हटे पीछे, कांग्रेस ने रखी ये बड़ी शर्त

0

नई दिल्ली। बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेकने के लिए सभी विपक्षी दल गठबंधन के लिए तैयार है लेकिन मामला पीएम उम्मीदवार पर आकर अटक जाता है। सभी पार्टियां इस मुद्दे पर अपना-अपना राग अलाप रहीं हैं। वहीं तीन दिन पहले कांग्रेस ने राहुल गांधी को पीएम पद का उम्मीदवार बनाकर एक दांव फेंका। लेकिन अब पीएम मोदी को सत्ता से बाहर करने के लिए वो अपने इस सपने को भी कुर्बान करने को तैयार है ।

राहुल गांधी

जी हां, विपक्ष के विरोध के बाद वो पीएम पद के लिए सहमती से किसी भी उम्मीदवार का समर्थन करने को तैयार है। लेकिन इसके लिए उसने एक शर्त रखी है। उसका कहना है कि पीएम पद के लिए वो किसी भी नेता का समर्थन करने को तैयार है लेकिन वो उम्मीदवार आरएसएस समर्थित नहीं होना चाहिए। सूत्रों की माने साल 2019 पीएम मोदी को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए कांग्रेस किसी भी नेता के पीएम पद की उम्मीदवारी पर सहमती जाता सकती है। यहां तक कि मायावती और ममता बनर्जी का भी विरोध नहीं करेगी। वो किसी भी ऐसे नेता पर मुहर लगा सकती है जो बीजेपी और संघ विरोधी हो।

सूत्रों की माने तो कांग्रेस ने ये फैसला दिल मजबूत कर के कर लिया है। लेकिन उसे उम्मीद है कि अगर चुनाव में कांग्रेस को ज्यादा सीटें मिलती हैं तो राहुल पीएम बन सकते हैं। उल्लेखनीय है कि रविवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी बैठक हुई, जिसके बाद कहा गया था कि 2019 में राहुल गांधी पार्टी का चेहरा होंगे। राहुल गांधी को पीएम पद का चेहरा बनाने के फैसले का जेडीएस के अलावा किसी और सहयोगी पार्टी ने समर्थन नहीं किया।

वहीं राजद नेता तेजस्वी यादव ने तो मंगलवार को यहां तक कह दिया कि ‘राहुल ही विपक्ष के एकमात्र नेता नहीं हैं।’ उधर, लखनऊ में बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी स्पष्ट कर दिया कि सम्मानजनक सीटें मिलने पर ही उनकी पार्टी गठबंधन करेगी। ममता बनर्जी ने भी अपनी दावेदारी ठोक दी है। ऐसे में राहुल को पीछे हटना पड़ रहा है।

2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी को हराने के लिए विपक्षी दल नई-नई रणनीति पर काम कर रहे हैं। इसके लिए हर राज्य में कांग्रेस गठजोड़ करना चाहती है।विपक्ष मोदी के सामने अपना एक साझा प्रधानमंत्री उम्मीदवार भी खड़ा कर सकता है। अटकलें हैं कि किसी महिला नेता को पीएम प्रत्याशी बनाया जाए। ऐसे में ममता बनर्जी या मायावती का नाम सामने आ सकता है। प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्ष की एकजुटता न देख कांग्रेस ने पीछे हटने का मन बना लिया है।

loading...
शेयर करें