कांग्रेस नेता ने दिया ऐसा बयान…बढ़ गई जम्मू-कश्मीर की सियासी हलचल

0

श्रीनगर: भाजपा द्वारा महबूबा सरकार से गठबंधन तोड़ने के बाद एक तो पहले से ही सूबे की राजनीतिक सरजमीं पर भूचाल का माहौल बना हुआ है। वहीं अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैफुद्दीन सोज ने एक ऐसा बयान दे दिया है जिसने राजनीतिक हलचल को और बढ़ा दिया है। दरअसल, कांग्रेस नेता सोज ने अपने बयान में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के दशकों पुराने उस बयान को सही ठहराया है जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीर के लोग आजादी चाहते हैं।

कांग्रेस नेता ने अपने बयान में कहा है कि मुशर्रफ का कहना था कि कश्मीरी पाकिस्तान के साथ नहीं जाना चाहते उनकी पहली पसंद आजादी है। यह बयान तब भी सही था और अब भी सही है। मैंने भी यही बात कही है लेकिन मुझे मालूम है कि ऐसा नहीं हो सकता है।

सोज का कहना है कि उनके बयानों से पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है। यूपीए सरकार में मंत्री रहे सैफुद्दीन सोज ने कहा कि केंद्र सरकार को हुर्रियत नेताओं के साथ खुलेतौर पर बात करनी चाहिए। 1953 से अब तक जितनी भी सरकारें बनी हैं उनसे कश्मीर मसले पर कोई ना कोई गलती हुई है। फिर चाहे वह नेहरू की या फिर इंदिरा की सरकार रही हो। कांग्रेस नेता की कश्मीर मुद्दे पर अगले हफ्ते एक किताब आने वाली है जिसका नाम है कश्मीर: ग्लिम्पसिस ऑफ हिस्ट्री एंड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल।

कांग्रेस नेता का कहना है कि यदि केंद्र सरकार कश्मीर मसले को सुलझाना चाहती है तो उसे कश्मीरियों के लिए एक ऐसा माहौल बनाना होगा जिसमें वह सुरक्षित महसूस कर सकें और बातचीत के लिए तैयार हो जाएं। सबसे पहले हुर्रियत के नेताओं से और उसके बाद मेनस्ट्रीम पार्टियों से बातचीत करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध और आवाजाही बढ़नी चाहिए। दोनों देशों के लोग करीब आएंगे तो बात बनेगी। परवेज मुशर्रफ ने अपने देश में काफी हद तक इस तरह का माहौल बना लिया था। इसके तहत शांति लाई जा सकती है।

loading...
शेयर करें