सीएम के खिलाफ मुंह खोलना कांग्रेस नेता को पड़ा भारी, भलाई के चक्कर में गिर गई गाज

0

देहरादून। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के दरबार से जो महिला शिक्षिका का ट्रांसफर मुद्दा जो उछला वो थमने का नाम ही नहीं ले रहा। इस मामले ने अब सियासी रुख अपना लिया है। हाल ही में एक कांग्रेस नेता ने फेसबुक पर मामले को उछालते हुए एक आपत्तिजनक पोस्ट अपलोड किया, जिसके बाद बवाल और भी ज्यादा बढ़ गया। कांग्रेस नेता ने अपनी पोस्ट में सीएम के खिलाफ काफी अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। इस बात से नाराज भाजयुमो कनखल मंडल के महामंत्री मनीष गुप्ता ने सीएम का अपमान करने के मामले में नेता आशीष सैनी के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है।

इस मामले में अव्वल निकला उत्तराखंड, केंद्र ने थपथपाई पीठ

त्रिवेंद्र सिंह रावत

खबरों के मुताबिक़ थानाध्यक्ष ओमकांत भूषण ने बताया कि मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है।  पोस्ट में कहीं भी गाली गलौज नहीं की गई है। हां, शीर्षक में ‘साला’ जरूर लिखा है। अब पुलिस पोस्ट में से वह शब्द ढूंढ रही है जिसे अभद्र भाषा माना जाए।

एक जुलाई लाएगी बड़े बदलाव, इन सात नियमों का आपकी जिंदगी…

बता दें रुड़की के कांग्रेस नेता आशीष सैनी ने अपने फेसबुक अकाउंट पर सीएम के नाम संबोधित एक पोस्ट अपलोड कर दी।

पोस्ट के शीर्षक में चोर उचक्का लिखा है, जो शिक्षिका बोल चुकी थीं। उसके नीचे साला टीएसआर लिखा है। पोस्ट में शिक्षिका को लेकर सीएम की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए गए हैं।

पोस्ट में लिखा है कि जो नेता आम जनता की बात को सुन नहीं सकता है तो उसे राजनीति में रहने का अधिकार नहीं है।

कांग्रेस नेता ने सीएम की शैली को अभद्र और अशिष्ट बताया है। फेसबुक वॉल पर अपलोड की गई पोस्ट पर कई लोग टिप्पणी कर चुके हैं, लेकिन कनखल के भाजयुमो मंडल महामंत्री मनीष गुप्ता ने कांग्रेस नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

loading...
शेयर करें