बिहार में खराब प्रदर्शन से नाखुश कांग्रेस नेताओं ने फिर उठाया पार्टी नेतृत्व पर सवाल

बिहार चुनाव में हार का जिम्मेदार सीधे तौर पर कांग्रेस को माना जा रहा है। हताशाजनक हार के बाद से ही पार्टी के कई नेता पार्टी के नेतृत्व पर सवाल उठाने लगे हैं।

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद से ही कांग्रेस पार्टी के अन्दर विद्रोह की आवाज सुनाई देने लगी है। देश की सबसे पुरानी पार्टी कही जाने वाली कांग्रेस का इस वक्त ऐसा हाल है कि वो समझ नही पा रही हमें आखिरकार जाना किधर है।

बिहार चुनाव में हार का जिम्मेदार सीधे तौर पर कांग्रेस को माना जा रहा है। हताशाजनक हार के बाद से ही पार्टी के कई नेता पार्टी के नेतृत्व पर सवाल उठाने लगे हैं।

कांग्रेस में गांधी परिवार के नेतृत्व पर कई सवाल

पार्टी के कई नेताओं ने कांग्रेस में गांधी परिवार के नेतृत्व पर सवाल खड़ा कर दिया है। मींडिया से हुई बातचीत में पार्टी के कई दिग्गज नेताओं ने खुलकर गांधी परिवार का विरोध किया है।

कांग्रेस पार्टी के पास आत्मचिन्तन का भी नही रहा वक्त

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने मीडिया से बात करते वक्त अपनी स्थिती स्पष्ट करते हुए बताया कि पार्टी के पास अब आत्मचिन्तन का समय भी नही बचा है और ना ही समीक्षा करने का। बिहार की मिली हार कांग्रेस के नेतृत्व पर कई सवाल उठा रही है।

वहीं पार्टी के ही एक दूसरे नेता ने कहा कि वो अब इस तरह पार्टी खत्म होते हुए नही देख सकते हैं। भले ही उन्हें पार्टी से निकाल दे परन्तु अब वो पीछे नही हटेंगे।

कांग्रेस किसी की व्यक्तिगत पार्टी नहीं है

कांग्रेस किसी एक व्यक्ति की पार्टी नही है। इस पार्टी को बनाने में हर नेता ने अपना योगदान दिया है। वहीं एक और अन्य नेता ने बयान दिया कि चाहे तो पार्टी उनसे उनका पद वापस ले ले परन्तु पार्टी अब ऐसे नही चलेगी। पार्टी नेता ने अपनी बात में कहा कि मुझे किसी पद का कोई लोभ नही है परन्तु मैं पार्टी को इस तरह बिखरने नही दूंगा।

राहुल गांधी के नेतृत्व से नाराज हैं कई नेता

गौरतलब है कि प्रत्येक नेता का अप्रत्क्ष रूप से राहुल गांधी की तरफ इशारा था। राहुल गांधी ना ही पार्टी अध्यक्ष का पद संभाल रहे और ना ही किसी भी चुनाव में उनके कारण कांग्रेस में कोई सकारात्मक बदलाव होता नजर आ रहा है। जिसका सीधा असर अब कांग्रेस में दिखने लगा है।

हालांकि कांग्रेस इन बातों पर अपनी चुप्पी नही तोड़ रही है। पार्टी के सूत्रों का कहना है कि पार्टी ऐसे लोगों के बयान पर ज्यादा तवज्जों नही देती है। कपिल सिब्बल के खिलाफ किसी भी कार्यवाई के बारे में पार्टी ने नहीं सोचा है।

कपिल सिब्बल का इस तरह का बयान देना दुर्भाग्यपूर्ण

हालांकि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कपिल सिब्बल को जवाब देते हुए कहा कि कपिल सिब्बल का इस तरह का बयान देना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है और इसके साथ ही उन्होनें गांधी परिवार का भी बचाव किया।

कांग्रेस के नेताओं द्वारा इस तरह की बयानबाजी से यह साफ हो गया है कि आने वाले दिनों में पार्टी के लिए मुश्किलें और भी बढ़ने वाली हैं।

ये भी पढ़ें : दिल्ली के बाजारों में लॉकडाउन, शादियों में 50 मेहमानों की इजाजत

Related Articles

Back to top button