नवजोत सिद्धू से खफा कांग्रेस नेतृत्व? पार्टी ने मिलने से किया इंकार

इससे पहले बुधवार को पार्टी के प्रदेश प्रभारी हरीश रावत ने सिद्धू समेत प्रदेश के नेताओं से बातचीत शुरू की। गौरतलब है कि सिद्धू लगातार विभिन्न मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते रहते है।

नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस में सत्ता संघर्ष के बीच पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख नवजोत सिंह सिंधु गुरुवार को पार्टी नेतृत्व द्वारा बैठक के लिए समय नहीं दिए जाने के बाद अपने गृह राज्य लौट गए। सिंधु ने कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मिलने के लिए समय मांगा था, लेकिन उन लोगों ने मिलने से साफ़ मना कर दिया।

CM पर साधते रहते है निशाना

इससे पहले बुधवार को पार्टी के प्रदेश प्रभारी हरीश रावत ने सिद्धू समेत प्रदेश के नेताओं से बातचीत शुरू की। गौरतलब है कि सिद्धू लगातार विभिन्न मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते रहते है। सिद्धू ने हाल ही में राज्य में मादक पदार्थों की तस्करी में शामिल लोगों के खिलाफ अपनी सरकार और पिछली अकाली सरकार की निष्क्रियता पर सवाल उठाया था। उन्होंने एक बयान में यह भी कहा कि राज्य के लोग ड्रग्स पर स्पेशल टास्क फोर्स की रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।

सिद्धू ने कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशों के बावजूद, इन दोनों सरकारों ने 13 ड्रग तस्करों को भारत वापस प्रत्यर्पित करने के लिए कुछ नहीं किया, जिन्होंने पंजाब में ड्रग्स की तस्करी की और कुछ अन्य देशों में ड्रग्स की तस्करी की। उन्होंने कहा कि लोगों को विशेष रूप से जिन्होंने अपने मासूम बच्चों को नशीली दवाओं के खतरे में खो दिया है, उन्हें बहुत उम्मीद है कि कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एक आम आदमी भी समझ सकता है कि इन नशा तस्करों को पिछले पांच साल से प्रत्यर्पित क्यों नहीं किया गया।

यह भी पढ़ें: मुंबई में इन देशों से आने वाले यात्रियों के लिए RT-PCR टेस्ट हुआ अनिवार्य

Related Articles