पंचायत चुनाव परिणाम में कांग्रेस ने भाजपा को छोड़ा पीछे: ड़ोटासरा

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस पंचायती राज चुनाव परिणाम में भारतीय जनता पार्टी भाजपा से कांग्रेस पार्टी आगे रही है।

जयपुर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस पंचायती राज चुनाव परिणाम में भारतीय जनता पार्टी भाजपा से कांग्रेस पार्टी आगे रही है।
ड़़ोटासरा ने शनिवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, इन्दिरा गाँधी भवन पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पंचायत राज चुनाव के नतीजों को भाजपा द्वारा ऐसे पेश किया जा रहा है जैसे भाजपा की एकतरफा जीत हुई हो जबकि वास्तविकता यह है कि कांग्रेस के वर्ष 2015 में सात जिला प्रमुख बने थे और अब छह बने हैं, वहीं कांग्रेस के वर्ष 2015 में 68 पंचायत समितियों में प्रधान बनेे थे और अब 98 प्रधान बने हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा के 393 जिला परिषद सदस्य थे जो घटकर 353 रह गए, भाजपा का वोट प्रतिशत कम हुआ है, लोकसभा में भाजपा को जो वोट मिला उसमें अब 18 फीसदी की कमी आई है। उन्होंने कहा कि इस बार सरपंच के चुनाव साल भर पहले हो गए, 70 फीसदी सरपंच कांग्रेस विचारधारा के बने हैं। उन्होंने कहा कि सरपंचों के साथ जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य के चुनाव नहीं होने से निर्दलीयों की संख्या बढ़ी है।

कोरोना के कारण योजनाओं को जनता तक नहीं पहुंचा पाए

डोटासरा ने कहा कि कोरोना के कारण हम हमारी जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता तक नहीं पहुंचा पाए और हमारी सरकार कोरोना प्रबंधन के काम में लगी रही, गांवों में कोरोना का प्रभाव कम था और हमारे जनप्रतिनिधि कोरोना काल में कई स्थानों तक नहीं पहुँच पाये तो गांव वालों ने समझा कि उनके जनप्रतिनिधियों ने उनकी सुध नहीं ली, इसकी वजह से भी पार्टी का वोट प्रतिशत अपेक्षा अनुरूप नहीं रहा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस का संगठनात्मक ढांचा तैयार नहीं है, अगर होता तो पार्टी को और अधिक लाभ मिलता।

ये भी पढ़ें : क्षेत्रीय विषमता खत्म करने के लिये पूर्वाचंल और बुंदेलखंड बोर्ड का गठन: योगी

जल्द ही कांग्रेस कार्यकारिणी का गठन होगा

उन्होंने कहा कि जल्द ही कांग्रेस कार्यकारिणी का गठन होगा तथा शेष रहे 12 जिलों के चुनावों में हम और बेहतर प्रदर्शन करेंगे। घनश्याम तिवाड़ी के भाजपा में शामिल होने के सवाल पर कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने बयान जारी किया है कि भाजपा को राजस्थान में बड़ा चेहरा नहीं चाहिए, तो मैं उनसे पूछना चाहता हूँ कि तिवाड़ी को छोटा चेहरा माना जाए या बड़ा चेहरा।

ये भी पढ़ें : ट्रैक्टर से कुचल कर की युवक की हत्या, पुलिस ने बताया हादसा

कोई आदिवासी भाई नक्सली नहीं

डोटासरा ने बीटीपी नेताओं के नक्सली सम्पर्कों के आरोपों पर कहा कि कोई आदिवासी भाई नक्सली नहीं है, पंचायतीराज चुनावों में स्थानीय समीकरण होते हैं, स्थानीय मांग के हिसाब से कई बार समर्थन पर फैसला होता है। उन्होंने कहा कि बीटीपी के दोनों विधायक सरकार के साथ हैं।

Related Articles

Back to top button