पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर कांग्रेस पार्टी का देशव्यापी विरोध प्रदर्शन

कांग्रेस पार्टी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आज पूरे देशभर के पेट्रोल पंपों के सामने देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress) कार्यकर्ता पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) की बढ़ी कीमतें और महंगाई को लेकर सरकार के खिलाफ आज पूरे देश में विरोध प्रदर्शन कर रही है। इस प्रदर्शन में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी शामिल नहीं हो रहे हैं। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट राजस्थान में ही प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं।

आपकी जानकारी के लिए यह बता दें कि, कांग्रेस पार्टी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आज पूरे देशभर के पेट्रोल पंपों के सामने देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है।

प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने ट्वीट कर कहा कि, इस पैसे से क्या मिल सकता था- पूरे भारत को वैक्सीन (67000 करोड़) + 718 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट + 29 राज्यों में एम्स अस्पताल + 25 करोड़ गरीबों को 6000 रू की मदद, मगर मिला कुछ भी नहीं।

दिल्ली में प्रदर्शन

दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस पार्टी के नेता के. सी. वेणुगोपाल ने कहा, मोदी सरकार आम जनता को लूटना बंद करे। पिछले 5 महीनों में पेट्रोल-डीजल के दाम 44 बार बढ़ाए गए। 250 शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक हैं।

पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने को लेकर पंजाब के अमृतसर में पेट्रोल पंप पर कांग्रेस कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कर्नाटक के हुबली में एक पेट्रोल पंप पर पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है। कांग्रेस पार्टी आज देशभर में तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ पेट्रोल पंप पर विरोध प्रदर्शन करेगी।

भाजपा का लूट चक्र

कांग्रेस पार्टी का कहना है कि महामारी के दौरान भाजपा का लूट चक्र रूकने का नाम नहीं ले रहा है, 4 मई से 9 जून के बीच 21 बार बढ़ोतरी हुई है। भाजपा आपदा में अवसर बनाकर देशवासियों को लूटना बंद करे। जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दाम कम हैं, ऐसे समय में भाजपा का ‘लूट का अवसर’ देशवासियों के साथ अवैध वसूली जैसा कृत्य है। भाजपा अपने ‘लूट के अवसर’ को रोक कर देशवासियों को राहत पहुंचाए।

पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क बढ़ाकर देशवासियों की जेब से पैसा निकाला जा रहा है। लेकिन यह पैसा देश के विकास पर नहीं बल्कि प्रधानमंत्री के सेंट्रल विस्टा जैसे महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट्स पर फिजूलखर्ची के रूप में खर्च हो रहा है। कांग्रेस का कहना है कि देश में पेट्रोल-डीजल के दाम में कटौती सिर्फ चुनावी अवसरों पर होती है। चुनावी प्रचार से फुर्सत मिलते ही भाजपाई लूट फिर से आरंभ हो जाती है। ये कैसी भाजपाई लूट है- जो सिर्फ चुनावी अवसरों पर रूक जाती है?

कांग्रेस ने कहा कि देश सिर्फ कोरोना ही नहीं बल्कि भाजपा निर्मित आपदा ‘महंगाई’ का भी सामना कर रहा है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच भाजपा ने पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाकर ‘लूट’ को अवसर बनाकर भुनाया है महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर टैक्स वसूले: 2.74 लाख करोड़।

यह भी पढ़ेदेश में आज चौथे दिन COVID-19 के 1 लाख से कम नए मामले, जानें क्या है आंकड़े?

Related Articles