‘चौकीदार चोर है’ टिप्पणी कर फंसे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सुप्रीम कोर्ट ने माँगा स्पष्टीकरण

0

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव को ले कर बयानबाजी अपनी सीमा भूल चुकी थी ऐसे में राजनेताओं के बयानों को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया, हालही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल को मुद्दा बना कर फिर एक बार पीएम मोदी पर निशाना साधा था ऐसे तो ये पहले भी हो चूका है पर मुद्दा इसलिए बढ़ गया क्योंकि राहुल गाँधी अपनी इस टिप्पड़ी में SC को भी घसीट लाये उन्होंने ये कहा कि ‘अब तो सुप्रीम कोर्ट ने भी मान लिया कि चौकीदार चोर है’. इस पर सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है कि ‘चौकीदार चोर है’, को गलत तरीके से अदालत से जोड़कर पेश किया गया. इसी के साथ शीर्ष अदलात ने 22 अप्रैल तक उनसे इस पर स्पष्टीकरण देने को कहा है.

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायाधीश संजीव खन्ना की पीठ ने मामले की सुनवाई 23 अप्रैल को करने का निर्देश दिया. मुख्य न्यायाधीश गोगोई ने विवादास्पद बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष से प्रतिक्रिया मांगते हुए स्पष्ट किया कि उन्होंने केवल राफेल मामले से संबंधित कुछ दस्तावेजों की स्वीकार्यता के मामले को डील किया था.

अदालत का आदेश भारतीय जनता पार्टी की नेता मीनाक्षी लेखी द्वारा राहुल के खिलाफ अवमानना कार्रवाई करने की मांग को लेकर अवमानना याचिका दायर करने पर आया है.

loading...
शेयर करें