एक बार फिर साथ आ सकते हैं राहुल और अखिलेश, क्या गुजरात को ये साथ पसंद है?

0

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव में सपा और कांग्रेस का याराना खूब देखने को मिला था। सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी का साथ भले ही प्रदेश की जनता को पसंद ना आया हो लेकिन दोनों की जोड़ी को खूब सराहा गया था। हालांकि यूपी चुनाव में सपा-कांग्रेस की बुरी तरह हार हुई और बीजेपी ने जीत हासिल की थी।

कांग्रेस

एक बार फिर अखिलेश ने राहुल के साथ जाने की इच्छा जताई है

वहीं, एक बार फिर अखिलेश ने राहुल के साथ जाने की इच्छा जताई है। उन्होंने कांग्रेस के साथ दोबारा दोस्ताने का ऑफर दिया है। अखिलेश यादव ने रविवार को कहा की कांग्रेस चाहे तो बीजेपी के खिलाफ गुजरात चुनाव में भी दोस्ताना हो सकता है। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें बुलाया गया तो गुजरात जाकर वे चुनाव प्रचार करने के लिए भी तैयार हैं।

गुजरात में उनकी पार्टी पांच सीटों पर चुनाव लड़ रही है

अखिलेश यादव ने कहा गुजरात में उनकी पार्टी पांच सीटों पर चुनाव लड़ रही है। गुजरात में प्रदेश अध्यक्ष को ही चुनाव से संबंधित फैसले लेने की जिम्मेदारी दी गई है। आगरा विवाद पर अपने अंदाज में चुटकी लेते हुए अखिलेश ने कहा कि उन्होंने भी ताजमहल के साथ तस्वीर खिंचवाई है। इतना ही नहीं उन्होंने योगी और मोदी सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मौजूदा राज्य सरकार और केन्द्र सरकार जनता पर अपनी उपलब्धियों की कोई छाप नहीं छोड़ पायी है। इन दोनों सरकारों ने लोगों की उम्मीदों को तोड़ा है।

ताजमहल को देखने दुनिया के ताकतवर राष्ट्रपति भी आते हैं

अखिलेश ने कहा कि ताजमहल को देखने दुनिया के ताकतवर राष्ट्रपति भी आते हैं। बीजेपी का बस चले तो यह इतिहास भी बदल दें, लेकिन उनके बस में यह नहीं है। उन्होंने कहा कि ‘भाजपा वाले साथ में अफीम लेकर चलते हैं जहां मुद्दा नहीं होता वहां पर वह अफीम बांट देते हैं।

loading...
शेयर करें