किसानों की आवाज बुलंद करने के लिए कांग्रेस करेगी संवाद कार्यक्रम-सीएम गहलोत

इस दौरान विधानसभावार किसान संवाद कार्यक्रम "जय जवान जय किसान" नारे के साथ आयोजित किए जाएंगे।

जयपुर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलनरत किसानों की आवाज़ को और अधिक बुलंद करने के उद्देश्य से प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रत्येक जिले में 28 से 30 दिसंबर तक किसान संवाद कार्यक्रम आयोजित करेगी।

सीएम गहलोत आज अपने निवास पर प्रदेश में कोरोना स्थिति की समीक्षा एवं वैक्सीन की तैयारियों से सम्बंधित बैठक में यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस दौरान विधानसभावार किसान संवाद कार्यक्रम “जय जवान जय किसान” नारे के साथ आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसमें राज्य सरकार के मंत्री एवं किसान हस्ताक्षर अभियान से जुड़े प्रभारी किसानों से संवाद स्थापित करेंगे।

इसके साथ ही राज्य सरकार की उपलब्धियों को पहुंचाने एवं काले कृषि कानूनों के प्रति जागरूकता के लिए ब्लॉक स्तर पर कार्यकर्ताओं की बैठक, प्रेस वार्ता, जन जागरण अभियान चलाकर किसानों को काले कानूनों की वास्तविकता से अवगत कराएंगे।

उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों, कार्यकर्ताओं से निवेदन किया कि वे इसे सफल बनाएं।

उन्होंने बताया कि बैठक में देश-विदेश से वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर जो ख़बरें आ रही हैं उन पर चर्चा हुई, हर स्थिति को लेकर हमारी पूरी तैयारी है। प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन की तैयारी भी हर स्तर पर पूरी है।

इसे भी पढ़े: किसानों को ‘शहरी नक्सली‘ करार देने पर सीएम और शिअद ने भाजपा की निंदा की

उन्होंने कहा कि राज्य में बेहतरीन प्रबंधन से कोरोना की स्थिति अब काफी नियंत्रण में है। मृत्युदर लगातार कम हो रही है,रिकवरी रेट बढ़ रही है,केस डबलिंग टाइम जो नवम्बर में 58 दिन हो गया था,अब 214 दिन हो गया है। यह सुखद संकेत हैं, लेकिन जब तक कोरोना पूरी तरह नहीं चला जाता हमें इसी मुस्तैदी के साथ काम करना होगा।

Related Articles

Back to top button