सत्ता वापसी के लिए कांग्रेस का बड़ा दांव, बनाया- 2022 के लिए फार्मूला 45

कांग्रेस ने सत्ता में वापसी के लिए आधी आबादी को साधने का बड़ा दांव चला है

UP में चुनाव करीब है. ऐसे में हर दल बड़े-बड़े दावें और वादें कर रहे हैं. वहीं UP में पिछले तीन दशक से ज्यादा समय से राजनीतिक वनवास भोग रही कांग्रेस ने सत्ता में वापसी के लिए आधी आबादी को साधने का बड़ा दांव चला है. अपनी राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की अगुआई में पार्टी ने इसके लिए महिला घोषणा पत्र जारी करने की अनोखी पहल की है. जिसमें 2022 में होने वाले विधान सभा चुनाव में लक्ष्य संधान के लिए 45 सूत्री फार्मूला अपनाया गया है. UP कांग्रेस की कमान संभालने के बाद किसानों, आदिवासियों, निषादों और महिलाओं के लिए कई मौकों पर संघर्ष करती नजर आईं प्रियंका गांधी वाड्रा ने मिशन 2022 में सफलता के लिए आधी आबादी पर निगाहें जमाई हैं जिन्हें रिझाने के लिए महिला घोषणा पत्र में 45 घोषणाएं की गई हैं. कांग्रेस के उत्तर प्रदेश मुख्यालय में घोषणा पत्र जारी करने के मंच का संयोजन भी इसकी गवाही दे रहा था जिसके जरिये महिलाओं को खास संदेश देने की कोशिश की गई. मंच पर प्रियंका के साथ सिर्फ महिलाएं मौजूद थीं जिनमें पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत, अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष नेटा डिसूजा और कांग्रेस विधानमंडल दल नेता आराधना मिश्रा ‘मोना’ शामिल थीं. घोषणा पत्र जारी करने के मौके पर प्रियंका ने कहा भी कि आगे से प्रेस कांफ्रेंस की पहली पंक्ति महिलाओं के लिए आरक्षित रहेगी.

 

महिलाएं मुझसे मिलती हैं, अपना दर्द कहती हैं

महिला घोषणा पत्र को ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ थीम सांग के साथ जारी करते हुए प्रियंका ने कहा कि ‘उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा का हाल सभी जानते हैं. हर दिन महिलाएं मुझसे मिलती हैं, अपना दर्द कहती हैं. पुलिस-प्रशासन अपराधी के साथ होते हैं क्योंकि उनकी सत्ता से नजदीकी होती है. महिलाएं पीड़िता नहीं बने रहना चाहती हैं. वे अपने हक के लिए लड़ना चाहती हैं. ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ नारा महिलाओं की इसी अकुलाहट से निकला है.’ उन्होंने बताया कि पार्टी का समग्र घोषणा पत्र भी जल्दी जारी किया जाएगा.

100 फाइनल टिकटों में 60 महिलाएं

प्रियंका ने कहा कि विधायिकाओं में महिलाओं की हिस्सेदारी बमुश्किल 14 प्रतिशत है. महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट देने का फैसला विधायिका में उनकी भागीदारी बढ़ाने और महिला सशक्तीकरण की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा. यह भी बताया कि टिकटों के लिए प्राप्त हुए आवेदनों की स्क्रीनिंग के बाद जो 100 टिकट अब तक फाइनल हुए हैं, उनमें 60 महिलाएं हैं. कांग्रेस के प्रत्याशियों की पहली सूची जल्दी जारी होगी.

 

यह भी पढ़ें-  आखिर कब महफूज होंगी बेटियां ? एक और छात्रा ने छेड़छाड़ से तंग आकर उठाया ये कदम

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles