बांदा में छह वर्षों से रुका औगासी पुल का निर्माण फिर हुआ शुरू

उन्होंने बताया कि भाजपा सरकार में निर्माणाधीन पुल का अधूरा कार्य पूरा करने के लिये अनुमानित संशोधित व्यय के स्टीमेट को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है

बांदा: उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने बांदा जिले के अधूरे पड़े यमुना नदी के औगासी पुल में पूजा- अर्चना कर नारियल फोड़ा और पुल का निर्माण कार्य पुनः तेजी से शुरू कर 30 जून तक पुल तैयार करने के आदेश दिए।

उपाध्याय ने जिले के बबेरू क्षेत्र में औगासी यमुना घाट पर लगभग 9 वर्षों से प्रतीक्षित निर्माणाधीन पुल का निरीक्षण भी किया। उन्होंने बताया कि वर्ष 2011 में स्वीकृत औगासी घाट पर निर्माणाधीन पुल का निर्माण कार्य धनाभाव के कारण रुक गया था।

उन्होंने बताया कि भाजपा सरकार में निर्माणाधीन पुल का अधूरा कार्य पूरा करने के लिये अनुमानित संशोधित व्यय के स्टीमेट को स्वीकृति प्रदान कर दी गई है और 5 करोड़ 36 लाख की धनराशि निर्माण के लिये आवंटित की जा चुकी है। पुल निर्माण में अब धन की कमी आड़े नहीं आएगी और 6 माह में 30 जून तक पुल तैयार हो जाएगा जिसके बाद बांदा जिले के बबेरू ,अतर्रा, नरैनी क्षेत्रों व चित्रकूट जिले और मध्य प्रदेश के रीवा, सतना, पन्ना जिलों से फतेहपुर कानपुर के लिए सीधा आवागमन औगासी पुल से सुलभ होगा। जिसमें लाखों नागरिक लाभान्वित होंगे।

यह भी पढ़े:

Related Articles

Back to top button