जौनपुर में सीजेएम के खिलाफ हाईकोर्ट में अवमानना याचिका स्वीकार

 

इलाहाबाद उच्च न्यायालय
इलाहाबाद उच्च न्यायालय

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर के मडियाहू इलाके के कुंभ गांव निवासी वीरेंद्र कुमार यादव ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में जौनपुर के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के विरुद्ध अवमानना याचिका दाखिल की है जो स्वीकार कर ली गई.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री आवास घोटाले के मामले में विकास भवन के एक अधिकारी व अन्य आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र न्यायालय में नहीं भेजा गया, जबकि पूर्व में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले के शीघ्र निस्तारण का निर्देश दिया था. हाल ही में सीजेएम द्वारा थानाध्यक्ष से जवाब तलब भी किया गया लेकिन कोई कार्यवाही न होने पर मुकदमे का गवाह वीरेंद्र कुमार यादव द्वारा सीजेएम के विरुद्ध हाईकोर्ट में अवमानना याचिका दायर की.

हाईकोर्ट ने प्रथम दृष्टया अवमानना का मामला पाया और तीन माह में मामले के निस्तारण कर सीजेएम को निर्देश जारी किया.

यह भी पढ़े: कानपुर: जमीन विवाद के चलते पेट्रोल में बोरी भिगोकर युवक ने व्यक्ति पर डाली, पत्नी-पुत्र भी झुलसे, तीन गिरफ्तार

Related Articles