आईआईएलएम में ऐतिहासिक रूप से ऑनलाइन मनाया गया दीक्षांत समारोह 2021

लखनऊ: आईआईएलएम अकैडमी आफ हायर लर्निंग, गोमती नगर, लखनऊ जो कि प्रबंधन शिक्षा के क्षेत्र में एक स्थापित नाम है में दिनांक 9 अक्टूबर 2021 को अपना 16 दीक्षांत समारोह ऐतिहासिक रूप से ऑनलाइन मनाया एवं पीजीडीएम और एमबीए के स्नातक बैच को डिप्लोमा और प्रमाण पत्र प्रदान किए गए।

दीक्षांत समारोह की शुरुआत डॉक्टर डॉ नायला रुश्दी, निदेशक, आईआईएलएम ने समारोह का शुभारंभ की घोषणा की! समारोह की शुरुआत मुख्य अतिथि डॉ प्रकाश सिंह, प्रोफेसर और चेयरमैन डॉक्टरल प्रोग्राम, आईआईएम, लखनऊ की उपस्थिति में हुई।

दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि डॉ प्रकाश सिंह ने पीजीडीएम छात्रों को एआईसीटी द्वारा स्वीकृत स्नातकोत्तर डिप्लोमा प्रदान किया एवं एमबीए छात्रों को प्रमाण पत्र प्रदान किए और दीक्षांत समारोह को संबोधित किया।

डॉ नायला रुश्दी, निदेशक आईआई एल एम, लखनऊ ने अपने स्वागत भाषण में सभी अतिथियों, पुरस्कार लेने वालों, अभिभावकों और छात्रों का स्वागत किया उन्होंने विस्तार से वर्णन किया कि आई आई एल एम 2 वर्षों की व्यवसायिक शिक्षा में अपने छात्रों के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है जिसके परिणाम स्वरुप आईआई एल एम उपलब्धि के रूप में छात्रों को अच्छे कारपोरेट घरानों में 100% प्लेसमेंट के साथ-साथ समग्र छात्रों को वास्तविक दुनिया की चुनौतियों का सामना करने के लिए उनके व्यक्तिगत और कौशल का विकास करता है।

उन्होंने शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए संक्षिप्त रिपोर्ट भी प्रस्तुत की। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के बावजूद कालेज में छात्रों के प्लेसमेंट के लिए भरपूर प्रयास किए तथा बेहतरीन सफलता हासिल की। 2 साल की कड़ी परीक्षा और शैक्षणिक सख्ती के बाद पीजीडीएम और एमबीए के 164 छात्रों ने अपने स्नातक प्रमाण पत्र और पदक प्राप्त किए जो गर्व और उत्साह की भावना प्रदर्शित करते हैं।

समारोह में अकादमिक उत्कृष्टता के प्रतीक स्वरूप पीजीडीएम से अतुल पांडे को कुलवंत राय स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया सोनाली कुमारी को चेयर पर्सन के सिल्वर मेडल से सम्मानित किया गया और सुलाता पटनायक को निदेशक के कांस्य पदक से सम्मानित किया गया जबकि एमबीए से हर्षिता अग्रवाल को कुलवंत राय गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया, खुशबू कुमारी को चेयर पर्सन के सिल्वर मेडल से सम्मानित किया गया और गरिमा सिंह-2 को निदेशक के कांस्य पदक से सम्मानित किया गया।

अभिषेक सिंह धामी पीजीडीएम और मनीष कुमार एमबीए के छात्रों के नियुक्ति समिति स्काप में उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए सर्वश्रेष्ठ स्काप सदस्य के रूप में चुना गया। डॉ प्रकाश सिंह ने अपने संबोधन में सभी परास्नातक छात्रों को बधाई दी उन्होंने छात्रों की सफलता में उनके माता-पिता और आई आई एल एम सदस्यों के प्रयासों की सराहना की।

पूरे विश्व के अवसर आपकी प्रतीक्षा

उन्होंने छात्रों को यह कहते हुए परास्नातक करने के लिए प्रोत्साहित किया कि पूरे विश्व के अवसर आपकी प्रतीक्षा कर रहे हैं, आपको आने वाले वर्षों में तेजी से बढ़ती हुई भारतीय अर्थव्यवस्था का नेतृत्व करना है तकनीक के इस युग में आप सभी को स्वयं में स्मार्ट और लोगों को स्मार्ट बनाने की जरूरत है। तकनीकी और इंटरनेट का बहुत अधिक उपयोग आपको अपने भविष्य के लक्ष्य से विचलित नहीं कर सकता।

शीतल शर्मा ने मेहमानों का स्वागत

डीन एकेडमिक डॉ शीतल शर्मा ने मेहमानों का स्वागत किया और डिप्लोमा के पुरस्कार के लिए छात्रों को प्रस्तुत किया। मिस्टर तौसीफ इरफान असिस्टेंट प्रोफेसर, आईआईएलएम, लखनऊ ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। इस दीक्षांत समारोह का संचालन आईआईएलएम की द्वितीय वर्ष की छात्रा आयुषी अवस्थी द्वारा किया गया।

 

Related Articles