IPL
IPL

कूचबिहार: EC ने बंद कराया मतदान, जानें कैसे भड़की हिंसा, CISF ने बताई Story

पश्चिम बंगाल में कूचबिहार के सितलकुची में हिंसा को लेकर CRPF ने साफ किया है कि उस समय अफवाह फैल गई कि CISF ने उसे मारापीटा है। गांव के 300-350 लोगों ने CISF कर्मी पर हमला किया

कूचबिहार: पश्चिम बंगाल (West Bengal) विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के मतदान के बीच कूचबिहार में हिंसा हुई है। जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक कूचबिहार के सितलकुची में स्थानीय लोगों के द्वारा हमला किए जाने के बाद CISF की ओर से गोलियां चलाई जिसमें लोगों की मौत हो गई। इस घटना पर CRPF ने साफ किया है कि गांव के लोगों ने CISF कर्मी पर हमला किया, राइफल ​छीनने और बूथ में घुसने की कोशिश की। हिंसा को देखते हुए बूथ नंबर 126 में मतदान को रद्द कर दिया गया है।

गांव के लोगों ने किया हमला

कूचबिहार की घटना पर कूचबिहार के SP देबाशीष धर ने घटना को लेकर CRPF ने साफ किया है कि कूचबिहार के सीतलकुची में बूथ संख्या-126 के बाहर ना तो CRPF की तैनाती थी और ना ही वो इस घटना में किसी तरह से शामिल है। एक आदमी की तबियत खराब हुई और वो बेहोश हो गया, बूथ के सामने उसका इलाज चल रहा था। उस समय अफवाह फैल गई कि CISF ने उसे मारापीटा है। गांव के 300-350 लोगों ने CISF कर्मी पर हमला किया, राइफल ​छीनने और बूथ में घुसने की कोशिश की इस दौरान CISF ने फायरिंग की। इस घटना में 4 स्थानीय ग्रामीणों की मौत हुई है। इनकी उम्र 22-25 साल है।

चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

चुनाव आयोग (Election Commission) ने विशेष पर्यवेक्षकों की एक अंतरिम रिपोर्ट के आधार पर कूच बिहार के सीतलकुची (Sitalakuchi) विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 126 में मतदान स्थगित करने के आदेश दिए गए हैं। आज शाम 5 बजे तक उनसे और मुख्य निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कल कूचबिहार में उस जगह का दौरा करेंगी, जहां आज फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई।

यह भी पढ़ेBOB Recruitment 2021: Bank of Baroda में इन पदों पर निकली वैकेंसी, बिना परीक्षा के होगा सेलेक्शन, करें आवेदन

Related Articles

Back to top button