कॉपी और किताबों से बनेगी 11 फीट के भगवान गणेश की प्रतिमा, प्रसाद में स्कूली बच्चों को दी जाएगी पठन सामग्री

0

होशंगाबाद: मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले समेत प्रदेश भर में इस बार गणेश महोत्सव विशेष ढंग से मनाया जाएगा। इससे पूरे देश को जल प्रदूषण रोकथाम का भी संदेश दिया जाएगा। दरअसल, गणेशोत्सव के दौरान पहली बार शहर समेत राज्यभर में कॉपी, किताबों और पाठ्य सामग्री से बने 11 फीट ऊंची गणेश प्रतिमा स्थापित की जाएगी। प्रतिमा निर्माण में 10 हजार कॉपी, किताबों का उपयोग होगा। इसे आकर्षक बनाने के लिए पेंसिल, रबर व अन्य सामग्रियों का भी प्रयोग किया जाएगा।  इस अनूठी पहल के पीछे नगर उपाध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल का विशेष योगदान है। वह इसकी तैयारियों में भी जुट गये  हैं।

खंडेलवाल ने बताया कि युवा मंडल के सदस्य प्रतिमा निर्माण की तैयारी में जुट गए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इस प्रकार की भगवान की मूर्ति निर्माण के लिए वह प्रत्येक वर्ष अपने जन्मदिन पर लोगों से पेंसिल, कॉपी व पाठ्य सामग्री ही उपहार में लिया करते थे। इसको वे नगर के प्राइमरी स्कूलों के बच्चों को वितरित करते थे। गणेशोत्सव नगर में उत्साहपूर्वक मनाया जाता है। इसलिए इस बार पाठ्य सामग्रियों से गणेश प्रतिमा का मन बनाया है। इसकी तैयारियां शुरू करा दी गई हैं। इसके लिए गणेश प्रतिमा का ढांचा तैयार किया जाएगा, जिसे पाठ्य सामग्री से सजाया जाएगा।

प्रसाद के तौर पर वितरिक की जाएगी पठन सामग्री

गणेशोत्सव के दौरान हर दिन आरती के बाद स्कूली बच्चों को प्रसाद के तौर पर पाठ्य सामग्री वितरित की जाएगी। इसके लिए प्रतिदिन नगर के विभिन्न प्राइमरी स्कूल के विद्यार्थियों को आरती के समय आमंत्रित किया जाएगा और पठन सामग्री वितरित की जाएगी।

लोगों तक जाएगा सकारात्मक संदेश

नगर उपाध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल ने बताया पाठ्य सामग्री से तैयार भगवान गणेश की प्रतिमा देखकर लोगों में सकारात्मक संदेश जाएगा। साथ ही नर्मदा में प्रदूषण रुकेगा। वहीं इस दौरान जरुरतमंद स्कूली बंच्चों को पुस्तक मिलने से उनकी मदद भी होगी। नर्मदापुरम युवा मंडल के सदस्य पूरे शहर में लोगों को ईको फ्रेंडली और मिट्‌टी के गणेश विराजित करने के लिए जागरुक करेंगे।

loading...
शेयर करें