आयोडीन के इस्तेमाल से कोरोना से बचा जा सकता है: वैज्ञानिक

तीन तरह के एंटीसेप्टिक आयोडीन पर रिसर्च करने के बाद वैज्ञानिकों ने कहा है कि आयोडीन का उपयोग कर कोरोना से बचा जा सकता है.

0
अमेरिकी वैज्ञानिक
अमेरिकी वैज्ञानिक

अमेरिका:कोरोना के चलते जहां एक तरफ पूरा विश्व परेशान है वहीँ दूसरी तरफ हर गुजरते दिन के साथ नए-नए दावों का दौर जारी है. अब अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कनेक्टिकट स्कूल ऑफ मेडिसिन की तरफ से एक नया दावा सामने आया है. तीन तरह के एंटीसेप्टिक आयोडीन पर रिसर्च करने के बाद वैज्ञानिकों ने कहा है कि आयोडीन का उपयोग कर कोरोना से बचा जा सकता है.

बैज्ञानिकों की माने तो ACE2 रिसेप्टर्स नाक में पाए जाते है इसी की मदद से कोरोना शरीर में प्रयोग करता है, अगर इस पर कण्ट्रोल किया जाए तो कोरोना से बचा जा सकता है. इसके लिए आयोडीन का इस्तेमाल करते हुए नाक और मुहं को अच्छी तरह साफ़ करना होगा, ऐसा करने से कोरोना को शरीर में जाने से रोका जा सकता है.

वैज्ञानिकों के मुताबिक जब 0.5 प्रतिशत कंसंट्रेशन वाले आयोडीन सॉल्यूशन में कोरोना वायरस को छोड़ा गया तो ये मात्र 15 सेकंड में नष्ट हो गया.

वैज्ञानिकों की माने तो आयोडीन से मुहं और नाक को अच्छी तरह साफ़ करके इस वायरस को फेफड़े तक जाने से रोका जा सकता है. अगर वायरस फेफड़े तक नहीं पहुंचेगे तो रिस्क काफी कम हो जायेगा.

दरसल रिसर्चर्स ने रिसर्च के दौरान आयोडीन के तीन एंटीसेप्टिक सॉल्यूशंस (PVP-I) तैयार किए. इनमें आयोडीन की मात्रा 0.5%, 1.25% और 2.5% रखी गई. रिसर्च में सामने आया कि 0.5% वाले सॉल्यूशन में वायरस 15 सेकंड में ही खत्म हो गया.

अगर वैज्ञानिकों के इस दावे में सच्चाई है तो थोड़ी एहतियात बरतकर कोरोना जैसे खतरनाक वायरस से बचा जा सकता है. जहां रोज़ कोरोना के बढ़ते मामले और इस वायरस से हो रही मौते लोगों को हर पल डरा रही है, वहीँ अमेरिकी वैज्ञानिकों द्वारा किया गया ये शोध काफी राहत भरा है.

 

ये भी पढ़े- IPL 2020: फरहान अख्तर ’क्रिकेट लाइव’ के साथ टूर्नामेंट का करेंगे आगाज

ये भी पढ़े- सीएम योगी ने कैंसर पीड़ित छात्र के इलाज के लिए दिए 10 लाख रुपये

 

 

 

 

शेयर करें