IPL
IPL

कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, घर पर बैठेंगे बच्चें, इतने समय तक बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर तेजी से बढ़ रही है। इन दिनों पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ एमपी में तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना के बढ़ते मरीजों की वजह से स्कूल शिक्षा विभाग ने पहली से आठवीं तक के सभी स्कूलों को बंद रखने का फैसला लिया है। इसी कड़ी में गृह विभाग ने अपनी समीक्षा बैठक की जिसमे एमपी के सबसे ज्यादा संक्रमित भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा खरगोन और रतलाम इन सात जिलों को चिन्हित किया है। बढ़ते कोरोना (Corona) संक्रमण की वजह से स्कूल और कॉलेज बंद रखने के लिए सभी कलेक्टरों को निर्देश दिया गया है।

Corona संक्रमण की वजह से सभी कलेक्टरों को दिए गए निर्देश

गृह विभाग ने बुधवार को बढ़ते कोरोना संक्रमण की वजह समीक्षा बैठक करके फैसला लिया है कि जिन सात जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ा है वहां 15 अप्रैल तक पहली से लेकर आठवीं तक स्कूल और कॉलेज बंद रखने के सभी कलेक्टरों को निर्देश दिया है। स्कूलों के साथ-साथ इन 7 जिलों में कॉलेजों में भी शैक्षणिक कार्य बंद रखने के आदेश दिया गया हैं। वहीं 9वी और 11वीं की फाइनल परीक्षाएं 12 अप्रैल से ऑफलाइन शुरू होगी। कक्षा 10वीं कक्षा 12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षाएं भी 12 अप्रैल से ऑफलाइन लेने की तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं।

ये भी पढ़ें : यूपी में एक अप्रैल से शराब खरीदते ही चढ़ेगा नशा, बीयर में आएगा मजा

पहले 31 मार्च तक बंद था स्कूल और कॉलेज

एमपी में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 10 दिन पहले कक्षा पहली से 12वीं तक के स्कूल और कॉलेज 31 मार्च तक बंद रखने के निर्देश दिया था। लेकिन संक्रमण में तेजी से हो रही बढ़ोतरी की वजह से नए शिक्षा सत्र से पहली से आठवीं तक स्कूल बंद रखने का आदेश जारी किया हैं, तो वहीं गृह विभाग ने अपनी समीक्षा बैठक में 9वीं से 12 तक के स्कूल और कॉलेज 15 अप्रैल तक बंद रखने का निर्देश दिया है। छात्र-छात्राओं की पढ़ाई में रुकावट न आये इसके लिए ऑनलाइन क्लासेज के माध्यम से पढ़ाई जारी रहेगी।

ये भी पढ़ें : जेब को मिलेगी राहत अगर ऐसे करेंगे Cylinder की बुकिंग

Related Articles

Back to top button