कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, सरकार ने स्कूलों में लगा दिया ताला, जानें कब तक बंद रहेंगे स्कूल

लखनऊ: दुनिया भर में एक बार फिर से कोरोना ने करवट ले ली है। भारत देश भी इसका शिकार हो रहा है। वहीं उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। यूपी के बाकि जिले से अधिक राजधानी लखनऊ कोरोना से प्रभावित है, यहां पर आये दिन एक्टिव केस में इजाफा हो रहा है। इस मामले को देखते हुए योगी सरकार ने स्कूलों (Schools) को बंद करने का फैसला लिया है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच प्रदेश में सभी सरकारी व निजी स्कूल बंद रहेंगे।

प्रदेश में बढ़ते संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार शाम को बेसिक व माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में सीएम योगी ने कहा है कि यूपी के सभी सरकारी व निजी स्कूल के कक्षा एक से आठ तक के स्कूलों (Schools) को 24 से 31 मार्च तक बंद रहेंगे। इसके बाद कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल 25 से 31 मार्च तक बंद रहेंगे। इसके अलावा उन्होंने कोविड-19 की गाइडलाइन के तहत स्कूलों में चल रही कक्षा 9 व 11 की परीक्षाओं का आयोजन जारी रखने के निर्देश दिया हैं।

ये भी पढ़ें : जानिए क्यों Turkey में नहीं टिकते बैंक चीफ ,छोड़नी पड़ जाती है नौकरी

अगर कोरोना संक्रमण बढ़ा तो…

उधर, यूपी मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि त्योहारों के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाएगा। स्कूलों में दी गई छुट्टियों के संबंध में उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि होली के बाद समीक्षा की जाएगी अगर कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ती है तो छुट्टियां आगे भी बढ़ाई जा सकती हैं। उन्होंने परिषदीय स्कूलों में 25 मार्च से छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट करने के लिए प्रस्तावित मूल्यांकन को स्थगित करने के निर्देश दिए है। सीएम योगी की इस बैठक में माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षाओं के कार्यक्रम को लेकर भी चर्चा की गई।

ये भी पढ़ें : कबड्डी चैंपियनशिप में हुआ बड़ा हादसा, दर्शकों से खचाखच भरा स्टैंड टूटा, मचा हड़कंप

त्योहारों पर कोई रोक नहीं

त्योहारों को लेकर सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि त्योहारों पर कोई रोक नहीं लगाई गई है। लेकिन बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों को जागरूक करने के लिए कहा है और निर्देश दिए गए हैं कि बिना स्थानीय प्रशासन की पूर्वानुमति के कोई भी जुलूस तथा कार्यक्रम या सार्वजनिक समारोह आयोजित न किए जाएं। अनुमति के पूर्व यह सुनिश्चित किया जाए कि ऐसे आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन हो।

 

 

Related Articles