दिल्ली के होटलों में खुले कोरोना सेंटर होंगे बंद, सीएम केजरीवाल ने दिया आदेश

0

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अस्पतालों से लिंक करके होटलों में बनाए गए कोरोना केयर सेंटरों को अब केजरीवाल सरकार ने बंद करने का फैसला किया है। इसकी जानकारी मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर दी है।सीएम केजरीवाल ने बताया कि मरीजों की बढ़ती संख्या की वजह से कुछ होटल कोरोना अस्पतालों से अटैच थे। संक्रमण की स्थिति में सुधार को देखते हुए अब इन्हें बंद किया जा रहा है।

दिल्ली में फिलहाल 25 से ज्यादा होटल कोविड केयर सेंटर बना रखे हैं। दिल्ली में बीते कुछ समय से मरीजों की संख्या घटती जा रही है। अब अस्पताल में भी मरीजों की संख्या कम हो रही है। काफी संख्या में बेड खाली हैं। मरीज नहीं मिलने के कारण होटल संचालक लगातार सरकार और जिला प्रशासन से अपने होटल को छूट देने की मांग कर रहे थे। उनका तर्क था कि मरीज नहीं मिलने के कारण उनका खर्च नहीं निकल रहा है।

आरटी-पीसीआर टेस्ट के दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने का निर्देश

वहीं, केजरीवाल ने यह भी बताया कि मौजूदा दिशा-निर्देश कहते हैं कि यदि किसी भी मरीज का एंटीजन टेस्ट नेगेटिव है, लेकिन लक्षण हैं, तो आरटी-पीसीआर टेस्ट उस पर किया जाना चाहिए। मैंने इन दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है।

स्वास्थ्य विभाग का दावा, कोरोना को लेकर सुधर रही है दिल्ली की स्थिति

दूसरे राज्यों में कोरोना जहां बढ़ता जा रहा है, वहीं कोरोना को लेकर दिल्ली की स्थिति लगातार सुधर रही है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली सरकार को रिपोर्ट सौंपी। जिसमें दिए गए आंकड़ों के अनुसार 20 जुलाई से पहले के सप्ताह में सौ मरीजों की जांच होने पर 11 पॉजिटिव मिलते थे, लेकिन अब यह दर 6 फीसद है। यानी अब 100 मरीजों पर 6 मरीज पॉजिटिव मिल रहे हैं। जबकि जून के मध्य में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 38 फीसद तक पहुंच गई थी। अब लॉकडाउन हट जाने के बावजूद राजधानी में कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो चुका है।

पिछले सप्ताह राजधानी में सक्रिय मरीजों की संख्या 16031 थी जो अब घटकर 11904 तक रह गई है। कुछ दिन पूर्व पूरे देश में दिल्ली सक्रिय मरीजों की तुलना में दूसरे स्थान पर थी। अब 10वें स्थान पर है। कोरोना के मरीजों का राष्ट्रीय स्तर पर ठीक होने का दर 64 फीसद है।

loading...
शेयर करें