कोरोना संक्रमण एक करोड़ के पार, लेकिन WHO की है चेतावनी, ‘सबसे बुरा दौर आना अभी बाकी’

नई दिल्ली: चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ जानलेवा कोरोना वायरस पूरी दुनिया में एक करोड़ से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है. दुनियाभर में रोज़ाना करीब डेढ़ लाख नए लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं. पिछले छह महीने से इस संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ रहा है. हालांकि, फिर भी विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) का मानना है कि ये कोरोना का सबसे बुरा दौर नहीं है. सोमवार को WHO ने कहा कि विश्वभर में कोरोना का अभी सबसे बुरा दौर आना बाकी है.

दुनियाभर को जर्मनी, दक्षिण कोरिया और जापान की राह पर चलना चाहिए- WHO

एक वर्चुअल मीटिंग के दौरान WHO के प्रमुख टेड्रोस एडहनॉम गिब्रयेसॉस ने कहा कि हम सभी चाहते हैं कि कोरोना वायरस (कोविड-19) जल्द से जल्द खत्म हो जाए. हम सभी पहले की तरह अपनी जिंदगी में वापस लौटना चाहते हैं. अगर दुनियाभर के जिम्मेदार लोगों ने इस संक्रमण के खिलाफ सही नीतियों का पालन नहीं किया तो इससे संक्रमण से और भी कई लोग संक्रमित हो सकते हैं.

उन्होंने कहा, ‘कोरोना का सबसे बुरा समय अभी आना बाकी है. हमें परिस्थितियों के और बुरा होने का डर है. छह महीनें पहले हम नहीं जानते थे कि इस वायरस से पूरी दुनिया बदल जाएगी. लोगों को अपने घरों में कैद होना पड़ेगा और सबकुछ इस तरह बंद हो जाएगा.’

एडहनॉम ने आगे कोरोना वायरस के खिलाफ जर्मनी, दक्षिण कोरिया और जापान की सरकारों के काम की तारीफ भी की और दूसरे देशों से भी इनके रास्ते पर चलने का आग्रह किया.

दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या एक करोड़ 4 लाख के पार

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, पूरी दुनिया में अब तक एक करोड़, चार लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. वहीं पांच लाख से ज्यादा लोग इस महामारी के कारण अपनी जान गवां चुके हैं. हालांकि, अच्छी खबर यह है कि 56 लाख से ज्यादा लोग इस संक्रमण से ठीक भी हो चुके हैं.

दुनिया में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका से देखने को मिले हैं. अमेरिका में अब तक 26 लाख, 81 हजार, 527 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. यहां अब तक इस वायरस के कारण एक लाख 28 हजार 774 लोगों की मौत हो चुकी है.

भारत में संक्रमितों की संख्या पांच लाख 67 हजार के पार

भारत में अब तक कोरोना के पांच लाख 67 हजार 536 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं 16 हजार 904 लोगों की मौत हुई है. हालांकि, भारत में प्रतिशत से ज्यादा लोग इस वायरस से ठीक हो चुके हैं.

Related Articles