‘दिल्ली से सटे यूपी के जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ा, बरती जाय सावधानी’

नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बद्रीनाथ में 11 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले विशेष पर्यटक गृह का शिलान्यास करेंगे।

लखनऊ: दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जिलो में कोरोना संक्रमण के कुछ केस बढ़े हैं और इसलिए वहां पर विशेष सावधानी बरती जा रही है। राज्य के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने सोमवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण कम हो रहा है लेकिन दिल्ली से सटे प्रदेश के सीमावर्ती जिलो में कोरोना संक्रमण के कुछ मामले बढ़े हैं और इसलिए वहां पर विशेष सावधानी बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में टेस्टिंग की गति पूर्ववत रखी जा रही है, ताकि जल्द से जल्द संक्रमण की पहचान की जा सके। इसलिए अधिक टेस्टिंग बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। लक्षित समूहों की भी जांच निरन्तर की जा रही है। कोविड अस्पतालों में समुचित व्यवस्था है।

लोग सावधानी बरते, माॅस्क का प्रयोग करे, हाथ धोते रहे

उन्होंने कहा कि त्यौहारों का सीजन चल रहा है इसलिए सभी लोग सावधानी बरते, माॅस्क का प्रयोग करे, हाथ धोते रहे व भीड़भाड वाली जगह पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करे। उन्होंने कहाक प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने लोगों से अनुरोध किया हैै कि जबतब दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हाॅटस्पाॅट एरिया व कन्टेनमेंट जोन में भी थोड़ी बढोत्तरी हुयी है।

बद्रीनाथ में 11 करोड़ की लागत से विशेष पर्यटक गृह का शिलान्यास

नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बद्रीनाथ में 11 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले विशेष पर्यटक गृह का शिलान्यास करेंगे। उत्तर प्रदेश से जो भी श्रद्धालु बद्रीनाथ दर्शन करने जायेंगे उनके लिए व्यवस्था विशेष रूप से की जायेगी। उन्होंने बताया कि यह निर्माण कार्य अगले वर्ष पूरा करके श्रद्धालुओं के लिए खोला जायेगा।

धान और मक्का की खरीद का भुगतान सुनिश्चित करें

अपर मुख्य सचिव सूचना ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है। इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें धान व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले। धान और मक्का की खरीद का भुगतान 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिलाधिकारी की यह जिम्मेदारी है कि किसानों को किसी प्रकार की समस्या न/न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे। अधिकारियो/कर्मचारियों द्वारा लापरवाही करने पर उनके विरूद्ध कार्यवाही की गयी है तथा शिकायत मिलने पर वरिष्ठ अधिकारियों को निलम्बित भी किया गया है।

उन्होंने कहा है कि धान क्रय केन्द्र पर शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी। धान क्रय केन्द्राें पर जिलाधिकारी तथा अधीनस्थ अधिकारियों द्वारा निरन्तर अनुश्रवण तथा आकस्मिक निरीक्षण करे। अब तक 120.47 लाख कुन्तल धान की खरीद की जा चुकी है। जो पिछले वर्ष से लगभग 03 गुना अधिक है। अब तक किसानों से 95,000 कुंतल मक्का की खरीद की जा चुकी है। जो गत वर्षों से काफी अधिक है।

कल एक दिन में कुल 73,207 सैम्पल की जांच की गयी

इस बीच प्रदेश के प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अलोक कुमार ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 73,207 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,71,22,647 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 1546 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 22,603 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 4,82,854 कोविड-19 से ठीक हो चुके है। प्रदेश में कोविड-19 रिकवरी रेट 94.15 प्रतिशत हो गया है।

सावधानी बरतने की आवश्यकता

उन्होंने बताया कि आज आरटीपीसीआर के माध्यम से 35,956 कोविड-19 की टेस्टिंग की गयी है। उन्होंने कहा कि त्योहारों के अवसर पर लोगों को विशेष सर्तकता बरतने की आवश्यकता है। ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 403 चिकित्सीय परामर्श लिए है। अब तक कुल 2,10,658 लोग चिकित्सीय परामर्श ले चुके है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 01 से 16 नवम्बर तक 30,723 मेजर सर्जरी की गयी है, इसी अवधि में इस वर्ष 01 से 16 नवम्बर तक 29,373 मेजर सर्जरी की गयी है।

ये भी पढ़ें : चेन्नई: हॉलीडे ट्रिप पर जाना तीन परिवारों को पड़ा महंगा, समुद्र में डूबे पांच युवक

Related Articles

Back to top button