Corona फैले या Lockdown हो, ये शाहीनबाग़ नहीं है, किसान नहीं हटेंगे : टिकैत

नई दिल्ली: देश भर में किसान आंदोलनरत हैं। इसी बीच दिल्ली में बॉर्डर पर किसानों का नेतृत्व कर रहे किसान नेता राकेश टिकैत का बड़ा बयान सामने आया है। टिकैत ने कहा है कि Corona फैले या Lockdown हो, आंदोलनकारी किसान बॉर्डर एरिया से नहीं हटेंगे। किसानों को लामबंद करने के लिए गतिविधियां जारी रहेंगी। किसान नेता राकेश टिकैत के मुताबिक अगर सरकार किसानों के प्रति चिंतित होती तो ऐसी स्थिति आती ही नहीं। उन्होंने कहा कि दिल्ली बॉर्डर क्षेत्र में बैठे किसानों के बीच कोरोना का कोई रोगी नहीं है। Corona का डर फैलाया जा रहा है, ताकि आंदोलन खत्म हो सके।

किसान नेता राकेश टिकैत ने लामबंद होकर कहा कि ये शाहीनबाग नहीं है न वहां का आंदोलन, जिसे Corona का खौफ दिखा कर हटा दिया जाए। किसान इस जंग में डटे हुए हैं और डटे रहेंगे।’ सरकार रैलियों की अनुमति नहीं देगी, तब भी वे होंगी। उन्होंने कहा, आंदोलन को बदनाम कराने के लिए सरकार ने लाल किले की घटना कराई थी। लाल किले के मामले को आंदोलन से जोड़ना गलत है। वह एक अलग मामला है।

राकेश टिकैत ने कहा किसानों के मुद्दों को लेकर और कृषि में सुधार को लेकर आंदोलन लगातार होते रहे हैं। अंतर सिर्फ इतना है कि पहले की सरकारें हमारी मांगें सुनती थीं। विचार होता था और स्थितियां सुधरती थीं। अब ऐसा नहीं है। यह सरकार लोकतांत्रिक नहीं, बल्कि पेशेवर तरीका अपनाए हुए हैं। सरकार में किसान पृष्ठभूमि के नेताओं की संख्या ना के बराबर है।

ये भी पढ़ें : बढ़त के साथ बंद हुआ बाजार, Sensex में उछाल, Nifty 14,500 के पार हुआ बंद

Related Articles