अमेरिका में 11 दिसंबर को लग सकता है कोरोना का पहला टीका

इस वैक्सीन की एक खुराक के लिए सरकार से 25-37 अमेरिकी डॉलर 1,854-2,744 रुपये ले सकती है. अमेरिका की मॉडर्ना इंक ने अपने एक बयान में दावा किया है

वाशिंगटन: अमेरिकी कंपनी फाइजर ने कहा है कि 11 दिसंबर को अमेरिका में कोरोना वायरस का पहला टीका लगाया जा सकता है। अमेरिका में कोरोना टीका के प्रमुख मोन्सेफ सलौई ने इसकी जानकारी दी।

फाइजर ने शनिवार को अमेरिका के फूड एंड ड्रग प्रशासन (एफडीए) को एक आवेदन सौंपा है और उसमें टीका के आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत मांगी है। एफडीए टीका सलाहकार समिति की बैठक 10 दिसंबर को होनी है।

सलौई ने कहा, “अगर बैठक में इजाजत मिल जाती है तो टीका अगले दिन उपलब्ध हो सकता है। हमारा लक्ष्य अनुमति मिलने के 24 घंटे के अंदर टीका को उन जगहों पर पहुंचाना है जहां टीकाकरण का काम होगा। मुझे उम्मीद है कि 11 या 12 दिसंबर को ऐसा हो सकता है।”

गत बुधवार को फाइजर ने कोरोना के खिलाफ 95 फीसदी प्रभावी टीका विकसित करने की घोषणा की थी और इसके लिए वह सरकार से आपातकालीन इस्तेमाल की मांग कर रहे हैं।

इस वैक्सीन की एक खुराक के लिए सरकार से 25-37 अमेरिकी डॉलर 1,854-2,744 रुपये ले सकती है. अमेरिका की मॉडर्ना इंक ने अपने एक बयान में दावा किया है कि उसने कोरोना की वैक्सीन को बना लिया है, जो मरीजों को ठीक कर रही है. इस दवा के बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं. फिलहाल, एक अनुमान के मुताबिक, दवा की कीमत 10 से 15 डॉलर हो सकती है.

यह भी पढे: पानीपत की नहर में छलांग लगाने वाले भाजपा नेता का मिला शव

यह भी पढ़े: उत्तर प्रदेश में सेनीटाइजर ने 9 महीनों में बनाया रिकॉर्ड, 137 करोड़ का मिला राजस्व

Related Articles

Back to top button