खांसने और छींकने से 10 मीटर फैल सकता है कोरोना वायरस, सरकार की नई एडवाइजरी

नई दिल्ली: कोरोना महामारी और संक्रमण की दूसरी लहर और तीसरे की आशंका के बीच हर नए दिन नए नियम जारी हो रहे हैं. अब केंद्र सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन के कार्यालय की ओर से कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सलाह जारी की गई है. इसके तहत कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) भी जरूरी बताई गई है. जारी गाइडलाइंस के मुताबिक किसी व्यक्ति की छींक और खांसी 10 मीटर की दूरी तक पहुंच सकती है. ऐसे में किसी भी संक्रमित व्यक्ति की खांसी और छींक वायरस के फैलने का सबसे प्रमुख कारण है. कहा गया है कि दफ्तरों और घरों में बेहतर वेंटिलेशन के जरिए संक्रमण का खतरा कम किया जा सकता है.

दफ्तर और घरों हवा को लेकर सलाह

के. विजय राघवन के दफ्तर की तरफ से कोरोना वायरस को देखते हुए सलाह में दफ्तर और घरों में वेंटिलेशन के संदर्भ में सलाह दी गई है कि ‘सेंट्रल एयर मैनेजमेंट सिस्टम वाली बिल्डिंगों में सेंट्रल एयर फिल्टर में सुधार करने से काफी मदद मिल सकती है. एडवाइजरी में ऑफिस, ऑडिटोरियम, शॉपिंग मॉल आदि में गैबल फैन सिस्टम और रूफ वेंटिलेटर के उपयोग की सिफारिश की गई है. Gidelines में कहा गया है कि पंखा रखने की जगह भी महत्वपूर्ण है क्योंकि पंखा ऐसी जगह पर नहीं होना चाहिए जहां से दूषित हवा सीधे किसी और तक जा सके. ऐसे में मास्क तो हमेशा पहनना जरूरी ही है. इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना भी कोरोना से बचाव के लिए जरूरी है.

इन चीजों की रोजाना साफ-सफाई जरूरी

यही नहीं बिना सिमटमस वाले covid संक्रमित मरीज की छींक और खांसी से भी वायरस फैल सकता है. इसके अलावा जमीन पर गिरे छींक और खांसी से निकले कण भी संक्रमण का कारण हो सकते हैं. जमीन पर खांसी, छींक, थूक और बलगम के कण लंबे समय के लिए वायरस फैलने की वजह बन सकते हैं. बता दें कि देश के कई राज्यों में सड़कों पर थूकने पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है. सरकारी पैनल की ओर से हाई कॉन्टेक्ट प्वाइंट्स की लगातार और नियमित सफाई का आदेश दिया गया है. इनमें डोर हैंडल्स, लाइट स्विच, टेबल्स, चेयर आदि शामिल हैं. इन्हें ब्लीच और फिनाइल आदि से साफ करने की सलाह दी गई है.

मास्क को लेकर भी सलाह

सरकार के चीफ साइनटिफिक एडवाइजर के. विजय राघवन के कार्यालय की ओर से सलाह दी है कि लोगों को कोरोना से बचने के लिए डबल मास्क या फिर एन-95 मास्क पहनना चाहिए. सरकार की ओर से जारी की गई एडवाइजरी के मुताबिक यदि कॉटन के कपड़े का मास्क पहनना है तो दो पहनने चाहिए, लेकिन सर्जिकल मास्क है तो फिर एक से ही काम चल सकता है. Advisory के मुताबिक सर्जिकल मास्क यदि आप पहनते हैं तो उसका इस्तेमाल एक ही बार किया जा सकता है. हालांकि डबल मास्क को आप 5 बार पहन सकते हैं.

ये भी पढ़ें : 54 जिलों के DMs से PM मोदी ने की सीधी बात, बोले,’ केस कम पर चुनौती बरकरार’

Related Articles

Back to top button