IPL
IPL

UP में कोरोना की ताबड़तोड़ ENTRY, पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 20,510 नए मामले

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 20,510 नए मामले सामने आए हैं

लखनऊ: देश में कोरोना वायरस (Corona virus) की दूसरी लहर बेहद ही खतरनाक साबित हो रही है। जिसकी चपेट में अब उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) खतरे के निशान पर पहुंच चुका है। कोरोना वायरस के संक्रमण से आए दिन अधिक संख्या में लोग संक्रमित होते ही जा रहे हैं। दूसरी तरफ श्मशान घाट में लाशों कि ढेर लग चुकी है। यूपी में पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 20,510 नए मामले सामने आए हैं।

यूपी में संक्रमण का आंकड़ा

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 20,510 नए मामले सामने आए हैं। 4,517 लोग डिस्चार्ज हुए और सक्रिय मामलों की संख्या 1,11,835 है। अब तक 9,376 लोगों की मृत्यु हुई है। कल प्रदेश में 2,10,121 सैंपल की जांच की गई है। अब तक प्रदेश में 3,73,84,344 सैंपल की जांच की गई है। अब तक 83,49,009 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़, लगाई गई है। इनमें से 13,93,075 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ भी लगाई जा चुकी है।

कोरोना वायरस की चपेट मेंं समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है। योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके जानकारी दी कि, शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने कोविड की जांच कराई और मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैं सेल्फ आइसोलेशन में हूं और चिकित्सकों के परामर्श का पूर्णतः पालन कर रहा हूं। सभी कार्य वर्चुअली संपादित कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की सभी गतिविधियां सामान्य रूप से संचालित हो रही हैं। इस बीच जो लोग भी मेरे संपर्क में आएं हैं वह अपनी जांच अवश्य करा लें और एहतियात बरतें।

CM योगी हुए आइसोलेट

13 अप्रैल के दिन यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी खुद को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने ट्वीट कर बोला कि, मेरे कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं। यह अधिकारी मेरे संपर्क में रहे हैं, अतः मैंने एहतियातन अपने को आइसोलेट कर लिया है एवं सभी कार्य वर्चुअली प्रारम्भ कर रहा हूं।

‘बचाव’ ही सर्वोत्तम उपाय

योगी आदित्यनाथ ने यह भी कहा कि, बीमारी, आग व पानी में लापरवाही नहीं ‘बचाव’ ही सर्वोत्तम उपाय है। कोरोना का भी सर्वोत्तम उपाय ‘बचाव’ है और हमें इसके हर संभव प्रयास करने चाहिए ताकि हम हर नागरिक को बचाने में योगदान दे सकें। भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकरा की गाइडलाइन्स का अक्षरशः पालन करें तथा अफवाहों पर ध्यान न दें।

यह भी पढ़ेIPL 2021: SRH vs RCB में कौन सी टीम मारेगी बाजी?, जानें Pitch Report और Match Prediction

Related Articles

Back to top button