रणजी ट्रॉफी पर कोरोना का साया, 87 साल में पहली बार नहीं होगा आयोजन

नई दिल्ली: कोरोना महामारी ( Corona Epidemic ) ने जहां एक तरफ पूरे देश की अर्थव्यवस्था ( Economy ) को तहस नहस कर दिया। तो वहीं दूसरी तरफ देश में खेल की दशा और दिशा को भी बदल दिया है। कोरोना महामारी ने हर साल आयोजित होने वाले टूर्नामेंट में भी खलल डाल दी है। इसी में फर्स्ट क्लास घरेलू टूर्नामेंट ( Domestic Tournament ) रणजी ट्रॉफी ( Ranji Trophy ) भी चपेट में आ गया है। दरअसल भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI ) ने रणजी ट्रॉफी को रद्द कर दिया है।

BCCI का बड़ा फैसला

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI ) ने एक बड़ा फैसला लेते हुए इस साल रणजी ट्रॉफी नहीं कराने का फैसला किया है। ऐसा 87 सालों में पहली बार होगा जब फर्स्ट क्लास घरेलू टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं हो सकेगा।

बोर्ड ने मांगी थी राय

अप्रैल में IPL के 14वें सीजन का आयोजन होना है। ऐसे में BCCI के पास किसी भी घरेलू टूर्नामेंट के आयोजन के लिए सिर्फ दो महीने का ही समय बाकी है। इसी को देखते हुए BCCI ने सभी संघों से विजय हजारे ट्रॉफी और रणजी ट्रॉफी में से किसी एक के आयोजन पर राय मांगी थी। जिससे BCCI ने रणजी ट्रॉफी की जगह विजय हजारे ट्रॉफी ( Vijay Hazare Trophy ) ही कराने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें: IND vs ENG: टेस्ट सीरीज में इन भारतीय अंपायरों को मिला मौका, दो करेंगे डेब्यू

Related Articles

Back to top button