योगी राज में भ्रष्ट अधिकारियों पर गिरी गाज, तीन साल में 775 अधिकारी नपे

लखनऊ: योगी राज में सुस्त एवं भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों पर लगातार कार्रवाई जारी है। एक रिपोर्ट के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक ऐसे 775 अधिकारियों व कर्मचारियों पर कर्रवाई हो चुकी है। भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही योगी सरकार ने अपने तीन साल के कार्यकाल में सैकड़ों ऐसे दागियों पर कार्रर्वाई की है।

एक समाचार रिपोर्ट के मुताबिक योगी सरकार में 775 सुस्त, भ्रष्ट एवं दागी अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है। यही नहीं कईयों को तो रिटायर कर उन्हें सेवा से बहार कर दिया गया है। रिटायर कर बाहर होने वाले वाले ऐसे दागियों की संख्या 325 है। 450 अधिकारियों व कर्मचारियों को या तो निलंबित या तो डिमोट किया गया है। विगत दो दिनों में सीएम योगी भ्रष्टाचार के आरोप में दो IPS अधिकारीयों को सस्पेंड कर चुके हैं।

योगी सरकार के तीन साल में ऊर्जा विभाग के 169, गृह विभाग के 51, परिवहन विभाग के 31, राजस्व विभाग के 36, बेसिक शिक्षा के 26, पंचायती राज के 25, पीडब्ल्यूडी के 18, श्रम विभाग के 16, संस्थागत वित्त विभाग के 16, कमर्शियल टैक्स के 16, मनोरंजन कर के 16, ग्राम विकास विभाग के 15 और वन विभाग के 11 अधिकारियों पर अब तक दंडात्मक कार्रवाई हो चुकी है। इसके अलावा 7 PPS अधिकारियों को भी रिटायर कर दिया गया है।

Related Articles

Back to top button