पर्यावरण पर सरकार की सजगता की नज़ीर है देश का पहला इलेक्ट्रिक Railway जोन

जोधपुर :  राजस्थान के वेस्ट सेंट्रल रेलवेज़ का चित्तौरगढ़ Railway सेक्शन ( Srinagar – Jalindri ) 30 मार्च को हुए CCRS इंस्पेक्शन के बाद देश का पहला पूरी तरह से इलेक्ट्रिक रेलवे जोन बन गया है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल के अनुसार, 3012 किलोमीटर लम्बा यह रूट पूरी तरह से इलेक्ट्रिकल है जो फ्यूल के साथ-साथ आपका समय भी बचाएगा। इसी के साथ यह फ्यूल बदलाव पर्यावरण के लिए भी बेहद मुफीद साबित होगा।

इस के लिए Railway ने किया है तगड़ा इन्वेस्टमेंट

रेल मंत्रालय ने पहले कहा था कि इस कदम से रेल की गति बढ़ेगी और साथ ही पर्यावरण में कार्बन फुटप्रिंट कम से कम होगा। इस के लिए रेलवे ने इस रूट पर इलेक्ट्रिफिकेशन के लिए काफी इन्वेस्टमेंट भी किया है। रेल मंत्रालय ने दिसंबर 2023 तक ब्रॉड गेज रेल नेटवर्क के 100 प्रतिशत विद्युतीकरण का लक्ष्य रखा है। इसी मसले पर लोकसभा में एक लिखित सवाल का जवाब देते हुए रेल मंत्री ने बताया की रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन की स्पीड 2014-20 में 2009 -2014 के मुकाबले 4.5 % बढ़कर अब 2,737 किलोमीटर हो गई है।

यह भी पढ़ें : क्या $ 2 Billion के इस कैपिटल इंजेक्शन से सुधर जाएगी इन बैंकों की सेहत ?

Related Articles