कोर्ट ने किया बड़ा फैसला, पूर्व राजनियक पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में दोषी करार

0

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने पूर्व राजनियक माधुरी गुप्ता को लकेर बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने उन्हें पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में दोषी करार कर दिया है। 19 मई को होने वाली अगली सुनवाई में उनके लिए सजा मुकर्रर किए जाने की संभावना है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ शर्मा ने माधुरी गुप्ता को गोपनीयता कानून के उल्लघंन के तहत दोषी करार दिया है। उन्हें पाकिस्तान की खूफिया ऐजेंसी आईएसआई के साथ गुप्त जानकारी साझा करने के अलावा देश हित के साथ समझौता करने के आरोप लगे हैं।

आईएसआई एजेंट के झांसे में आकर की देश से गद्दारी
माधुरी गुप्ता ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की पूछताछ में कबूल किया कि वह दो आईएसआई अधिकारियों मुबशर रजा राणा व जमशेद के संपर्क में थीं। वह राणा के झांसे में आकर उसके साथ शादी करने की योजना बना रही थी। जिसके चलत उसने कई महत्वपूर्ण जानकारियां उसके साथ साझा की।

भारतीय उच्चायोग में सेकेंड सेक्रेटरी (प्रेस एंड इंफॉर्मेशन) रहीं गुप्ता को सरकारी गोपनीयता अधिनियम की धारा तीन और पांच के तहत दोषी ठहराया गया है। इसमें अधिकतम तीन साल की सजा या जुर्माना या दोनों का प्रावधान है। माधुरी को दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा ने 22 अप्रैल, 2010 को पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ संवेदनशील जानकारी साझा करने के आरोप में गिरफ्तार किया था।  माधुरी की गिरफ्तारी के 10 साल बाद यह फैसला आया है, वह पहले ही 21 महीने की सजा काट चुकी हैं।

loading...
शेयर करें