चाकू के बल पर महिला से दुराचार करने वाले आरोपी पर कोर्ट ने सुनाया फैसला

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने आधीरात घर में घुस चाकू के बल पर महिला से दुराचार के आरोपी की एस सी, एस टी एक्ट मे विशेष न्यायालय द्वारा जमानत निरस्त करने के आदेश को रद्द कर दिया है।

प्रयागराज: इलाहाबाद उच्च न्यायालय (Allahabad High Court) ने आधीरात घर में घुस चाकू के बल पर महिला से दुराचार के आरोपी की एस सी (SC), एस टी एक्ट (ST act) मे विशेष न्यायालय (Special Court) द्वारा जमानत निरस्त करने के आदेश को रद्द कर दिया है। याची को जमानत पर रिहा करने का निर्देश दिया है। न्यायमूर्ति अजित कुमार ने झांसी सिपरी बाजार निवासी अशोक कुशवाहा (Ashok kushwaha) की अपील को स्वीकार करते हुए यह आदेश दिया है।

अपील पर अधिवक्ता का कहना था कि पीडिता के बयान व मेडिकल रिपोर्ट से प्राथमिक मे लगाये गये दुराचार के आरोप को समर्थन नही मिलता। उसे झूठा फंसाया गया है। मेडिकल रिपोर्ट दुराचार की पुष्टि नहीं करती। याची 23 जुलाई 2020 से जेल मे है। उसे रिहा किया जाए। शिकायतकर्ता का कहना था कि पति घर मे नही था।

ये भी पढ़ें : विश्व का सबसे सुंदर शहर बनेगा इंदौर: CM Shivraj

उसका फायदा उठाकर उसकी पत्नी के साथ दुराचार किया गया और बच्चो को जान से मारने की धमकी देकर गंभीर अपराध किया है। जमानत न दी जाय। न्यायालय ने तर्कों व दस्तावेजों के परिशीलन के बाद जमानत पर रिहाई का निर्देश दिया है।

ये भी पढ़ें : High Court ने की विधायक विजय मिश्र की जेल बदले की याचिका खारिज

Related Articles

Back to top button