कोर्ट ने याचिका की सुनवाई से किया इनकार, अपराधी अब नहीं लड़ सकेंगे चुनाव 

न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव, न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की खंडपीठ ने कहा कि इस याचिका में उठाये गये मुद्दे संसद के कार्यक्षेत्र में आता है

नयी दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्तियों को चुनाव लड़ने से रोकने संबंधी याचिका की सुनवाई से सोमवार को इनकार कर दिया.

न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव, न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की खंडपीठ ने कहा कि इस याचिका में उठाये गये मुद्दे संसद के कार्यक्षेत्र में आता है और याचिकाकर्ता इस संबंध में शीर्ष अदालत के पूर्व के दिशानिर्देशों पर अमल के लिए उपलब्ध उपाय के लिए स्वतंत्र हैं.

न्यायालय ने इस बाबत 2014 के फैसले का भी जिक्र किया और कहा कि इस याचिका में जो सवाल उठाये गये हैं उसका जवाब तत्कालीन न्यायाधीश आर एम लोढा की एक खंडपीठ ने 2014 में जारी आदेश के तहत दे दिये थे, जिसे बाद में विधि आयोग को भेज दिया गया था.

इस पर याचिकाकर्ता ने कहा कि इस संबंध में पूर्व में जो फैसले सुनाये गये, उस बारे में अभी तक कोई कानून प्रभावी नहीं हो सका है.
बता दे कि तत्कालीन खंडपीठ ने सरकार को ऐसे कानून बनाने के दिशानिर्देश जारी किये थे, जिसके तहत आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों को चुनाव लड़ने से रोका जा सके.

यह भी पढ़े: मुस्लिम परिवार की आत्महत्या का राजनीतिकरण कर रही तेदेपा: भाजपा

यह भीं पढ़े: ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहुंची भारतीय टीम ने टेनिस गेंद के साथ शुरू किया अभ्यास

Related Articles

Back to top button