अदालत ने अवंता के प्रमोटर gautam thapar की जमानत याचिका करदी है खारिज

नई दिल्ली : अदालत ने शनिवार को अवंता समूह के प्रमोटर gautam thapar की जमानत याचिका खारिज कर दी। थापर को एक कथित बैंक लोन फ्रॉड मामले से जुड़े मनी-लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया गया है।

न्यायाधीश संजीव अग्रवाल ने gautam thapar की जमानत याचिका खारिज कर दी

राउज एवेन्यू के विशेष न्यायाधीश संजीव अग्रवाल ने थापर की जमानत याचिका खारिज कर दी। जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान वकील अमित महाजन और पब्लिक प्रॉजिक्यूटर एनके मट्टा ने प्रवर्तन निदेशालय का पक्ष रखा। वहीं एडवोकेट विजय अग्रवाल, एडवोकेट संदीप कपूर, करंजावाला एंड कंपनी के सीनियर पार्टनर और वीर संधू, रजत सोनी, विवेक सूरी, निहारिका करंजावाला, अपूर्व पांडे, मृदुल यादव, अभिमांशु ध्यानी और साहिल मोदी की टीम ने थापर का पक्ष रखा। टीम ने थापर की ओर से पेश होने के लिए एडवोकेट विजय अग्रवाल को जानकारी दी थी। थापर फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।

ईडी ने अवंता समूह के प्रमोटर गौतम थापर को दिल्ली और मुंबई में कई स्थानों पर छापेमारी के बाद मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया था। इस मामले में गौतम थापर, अवंता रियल्टी लिमिटेड, ऑयस्टर बिल्डवेल प्राइवेट लिमिटेड और अन्य के खिलाफ ECIR दर्ज किया गया है।

इसमें उनके ऊपर 2017 से 2019 के दौरान, आपराधिक इरादे से भरोसे को तोड़ना, धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और सार्वजनिक फंड के दुरुपयोग/हेराफेरी के लिए जालसाजी करने का आरोप लगा है।

यह भी पढ़ें : Vatican City में पोप से मिले मोदी

Related Articles