देश में कोरोना के बढ़ने लगे मामले, राज्य सरकार ने महीने भर का लगाया कर्फ्यू

जोधपुर: नवंबर महीने के बाद एक बार फिर से भारत में कोरोना संक्रमण (COVID-19) की संख्या बढ़ रही है, इस समय ये हालत चिंता का विषय बना हुआ हैं। महाराष्ट्र में तो कोरोना संक्रमण बढ़ ही रहे थे, वहीं अब राजस्थान में भी हालात बेकाबू हो रहे है। ज्ञात हो कि साल 2020 में भी फरवरी महीने से धीरे-धीरे देश में संक्रमण फैलने लगा था ठीक वैसे ही 2021 में हो रहा है। राजस्थान के जोधपुर में कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए अशोक गहलोत सरकार ने 21 मार्च तक धारा 144 लगा दी है। शादियों और सार्वजनिक कार्यक्रमों में अब 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

इस मामले में जोधपुर पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया है कि धारा 144 के तहत अब किसी भी शादी या सार्वजनिक कार्यक्रम में अधिक भीड़ नहीं लगा सकते है, सिर्फ 100 लोगो के शामिल होने की अनुमति है। इसके अलावा केवल आवश्यक जरुरी समान की दुकान स्कूल और कॉलेज खुले रहेंगे। महाराष्ट्र में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है इसको ध्यान में रखते हुए पड़ोस के जिलों से आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग करने का फैसला लिया है।

ये भी पढ़ें : UP Budget 2021: अखिलेश ने कहा, ‘खेल खतम पैसा हजम’

महाराष्ट्र के इन इलाके में लागू नियम

मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बेतुल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बरवानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, अलीराजपुर और महाराष्ट्र से सटे जिलों के कलेक्टरों से आपदा प्रबंधन कमिटी की मीटिंग बुलाकर कोरोना संक्रमण से सतर्कता बरतने की अपील की है। महाराष्ट्र के बुलढाणा शहर के एडीएम दिनेश गीते ने कुछ इलाको में बढ़ते मामलो को देखते हुए प्रतिबंध लगाए है। इसमें बुलढाणा शहर के अलावा चिखाली, खमगांव, देउलगांव राजा और मलकापुर शामिल है। यह पर सुबह 8 बजे से शाम के 3 बजे तक केवल आवश्यक जरुरी समान की दुकानें ही खुलेंगी। नियम का उलंघन करने वालो पर कड़ी कार्रवाई होगी।

ये भी पढ़ें : ‘बंगाल अब परिवर्तन का मन बना चुका है’, लोगों को मिलेगा बड़ा लाभ

Related Articles

Back to top button