COVID-19 : ब्रिटेन में सात महीने बाद कोरोना से हुईं सर्वाधिक मौतें

लंदन : ब्रिटेन के हॉस्पिटल एक बार फिर से COVID-19 की नई लहर के चलते फुल होने वाले है, ऐसे में देश में कड़े प्रतिबंध लागू करने की जरूरत है। यह दावा बुधवार को ब्रिटेन के हेल्थ सर्विस लॉबी ग्रुप ने किया। हालांकि ब्रिटिश सरकार का कहना कि यह फिर से लॉकडाउन लागू करने का सही समय नहीं है।

COVID-19 का यूरोप में सबसे ज़्यादा असर ब्रिटेन में देखा गया

ब्रिटेन में पिछले 24 घंटे में कोरोना से 223 नई मौतें दर्ज हुई हैं, जो पिछले सात महीने का उच्चतम स्तर है। साथ ही ब्रिटेन में सभी यूरोपीय देशों के मुकाबले सबसे अधिक कोरोना केस दर्ज किए गए हैं। ब्रिटेन में कोरोना से अब तक 139,000 मौतें हो चुकी हैं और यह कोरोना से सबसे अधिक मौतों के मामले में पूरी दुनिया में आठवें नंबर पर है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ब्रिटेन उन देशों में है, जहां सबसे पहले कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हुआ था, जिसके बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना से जुड़े प्रतिबंधों और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों को हटा लिया था। जॉनसन ने फिर से लॉकडाउन लगाए जाने की किसी संभावना से इनकार किया है।

इंग्लैंड बिजनेस सेक्रेटरी क्वॉसी क्वॉर्टेंग ने बताया, “कोरोना मामलों में कुछ बढ़ोतरी देखी जा रही है और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने विंटर सीजन के मुश्किल भरे होने की चेतावनी दी है। हालांकि ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था की वजह से कोई लॉकडाउन नहीं लगेगा।”

यह भी पढ़ें : यूके ने फेसबुक पर Giphy डील के अंतर्गत लगाया जुर्माना

Related Articles