इस महीनें में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को लगेगी COVID-19 वैक्सीन

हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन कर्मियों के बाद अब दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को 1 मार्च से कोविड-19 वैक्सीन लगाई जाएगी

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) की चेन को तोड़ने के लिए कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) ने जड़ी बूटी का काम किया है। जिसके कारण ही भारत में कोरोना संक्रमण में गिरावट दर्ज की गई है। लोग अब राहत की सांस ले रहें है। हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन कर्मियों के बाद अब दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को 1 मार्च से कोविड-19 वैक्सीन लगाई जाएगी।

राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र  

हेल्थ वर्कर्स (Health Workers) और फ्रंट लाइन कर्मियों के बाद अब देश में दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाने की तैयारी की जा रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण (Union Health Secretary Rajesh Bhushan) ने राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र  लिखकर कहा कि लिखा है. राज्य सभी प्रकार के स्वास्थ्य केंद्रों में बड़े पैमाने पर टीकाकरण (Vaccination) की तैयारियों के इंतजाम करें। 1 मार्च से 50 साल से अधिक उम्र के और बीमार लोगों को भी टीकाकरण करने की शुरुआत की जानी है।

बायोटेक का ऐलान

कोराना वैक्सीन टीकाकरण अभियान से पूरे देश में खुशी की लहर दौड़ रही है। भारत बायोटेक (Biotech) ने बड़ा ऐलान किया था कि कोरोना वैक्सीन लगने पर यदि किसी व्यक्ति के साथ दुष्परिणाम (Side effect) होता है तो कंपनी खुद उसका मुआवजा देगी।

 

यह भी पढ़ेतीन दिनों में आई 11 फिल्मों की रिलीज डेट सामने, जानिए कौन सी फिल्म होगी कब रिलीज

आइये जानते हैं कि बायोटेक ने क्या कहा?

कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर भारत बायोटेक कंपनी का कहना है कि कोवैक्सीन (Covaxine) के लगाए जाने पर किसी व्यक्ति के साथ दुष्परिणाम (Side effect) सामने आते है तो कंपनी खुद इसका मुआवजा देगी।

वैक्सीन के लिए सहमति पत्र

कंपनी का कहना है कि जिसे भी कोरोना वैक्सीन लगवाना होगा उसे सबसे पहले एक ‘सहमति पत्र’ पर ‘हस्ताक्षर’ करना होगा। बायोटेक ने इस बात की पुष्टी करते हुए कहा है कि वैक्सीन लगवाने वाले किसी भी व्यक्ति के साथ कोई अनहोनी या दुष्परिणाम होता है तो उसे कंपनी मुआवजा देगी। इसके साथ ही अगर व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधि कोई भी समस्या होती है तो उसकी सरकारी अस्पताल में देख-रेख की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

यह भी पढ़ेशबनम ने नम आंखों से अपने बेटे को दी ऐसी नसीहत जो कोई मां अपने बेटे से नहीं कहती

Related Articles

Back to top button