IPL
IPL

बाराबंकी में Covid अस्पताल के कर्मचारी गिरफ्तार, बेहद शर्मनाक घटना को दे रहे थे अंजाम

लखनऊ: देश एक तरफ करोना महामारी के कहर के बीच जिंदगी और मौत से जूझ रहा है. लगातार कोरोना वायरस से रोजाना देश में सैकडों मौतें हो रहीं हैं. लोगो अपनों को खो रहे हैं. संवेदनशीलता ये हैं की हर कोई रोने को मजबूर है. पर बाराबंकी से एक शर्मनाक खबर सामने आई है. यहां के मेयो कोरोना संक्रमण से हो रही लोगों की मौत के बाद उनके मोबाइल और कीमती समान गायब हो रहे हैं. ऐसा और कोई नहीं यहां के ही कर्मचारी कर रहे हैं.

शिकायत पर जांच हुई तो सामने आया की यहां के ही कर्मचारी इस शर्मनाक करतूत को अंजाम दे रहे हैं. एक तरफ लोग कोरोना से दम तोड़ रहे हैं. दूसरी तरफ कुछ लोग इसी बात का फायदा उठाकर शर्मनाक घटना को अंजाम दे रहे हैं. मरीजों के परिवारों की शिकायत के बाद इस पूरे मामले का खुलासा हुआ. पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. जिसमें एक चतुर्थ क्लास महिला कर्मचारी भी शामिल है. पूछताछ में खुलासा हुआ है कि जब भी कोई कोरोना मरीज अपना फोन चार्ज करने के लिए उन्हें देता था और अगर उसकी मौत हो जाती थी तो ये लोग उसका फोन परिवार को वापस ही नहीं करते थे.

चुरा रहे थे मृत कोरोना मरीजों का मोबाइल

बता दें कि इस समय इन अस्पतालों में बेड खाली नहीं हैं. कोरोना पीड़ित मरीज अपने घर वालों से बात करने के लिए मोबाइल अपने पास रखते हैं. मोबाइल चार्ज करने की व्यवस्था पास में न होने से वो अस्पताल के कर्मचारियों को मोबाइल चार्ज करने के लिए देते हैं. ऐसे में ये कर्मचारी चार्जिंगग के बाद मोबाइल मरीज को वापस कर देते हैं. लेकिन मेयो अस्पताल में ये शातिर कर्मचारी मोबाइल चार्जिंग के लिए लेते जरूर थे लेकिन मरीज की मौत होने पर वह उसे वापस नहीं करते थे.

मेयो हॉस्पिटल के दो मृत मरीजों के घरवालों ने जब मरीज का मोबाइल गायब होने की शिकायत पुलिस को की तो उन्होंने पूरे मामले की जांच शुरू की. जिसके बाद इस बात का खुलासा हुआ कि हॉस्पिटल के दो कर्मचारी ही इस तरह की शर्मनाक हरकत कर रहे थे. पुलिस ने इस मामले में दो स्वस्थ्य कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है. वहीँ उनके पास से चोरी किये मोबाइल बरामद किये हैं. पुलिस अधिकारी के मुताबिक आगे की कार्रवाई की जा रही है.

ये भी पढ़ें : IPL 2021 Suspended: टूर्नामेंट टलने के बाद रैना ने कही ये बड़ी बात

Related Articles

Back to top button