प्रदेश में कोविड अभी नहीं हुआ समाप्त, इसलिए प्रोटोकाल का करें पालन, निरंतर हो रही टेस्टिंग

लखनऊ: अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। इस अभिनव प्रयोग सेें कोरोना संक्रमण में कमी आयी है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 352 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 28 हो गये है।

प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। प्रदेश में डेढ़ लाख से अधिक कोविड टेस्ट किये जा रहे है। प्रदेश देश में 07 करोड़ से अधिक टेस्ट करने वाला इकलौता राज्य है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी/निगरानी समितियों द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है।

टीम-09 के साथ बैठक

नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा कोविड की संभावित तीसरी लहर के संबंध में निरन्तर कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-09 के साथ बैठक की जा रही है। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि कोविड की तीसरी लहर की आशंका देखते हुए सभी जरूरी प्रयास यथाशीघ्र पूरी की जाए। मेडिकल काॅलेजों में पीडियाट्रिक आईसीयू/आइसोलेशन बेड की संख्या 6600 से अधिक हो गई है।

अस्पतालों में 5,850 बेड खास तौर पर तैयार

इसी प्रकार, स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों में 5,850 बेड खास तौर पर तैयार कर लिए गए हैं। वर्तमान में 56,000 आइसोलेशन बेड और 18000 आईसीयू बेड कोविड की जरूरतों के अनुरूप उपलब्ध हैं। अब तक प्रस्तावित 552 ऑक्सीजन प्लांट में से 336 क्रियाशील हो चुके हैं। शेष निर्माणाधीन प्लांट शीघ्र क्रियाशील हो जायेंगे। कक्षा 6वीं से 8वीं तक के विद्यालयों में आज से भौतिक रूप से पठन-पाठन प्रारंभ हो रहा है।

कक्षाओं में बनाया गया नियम

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये है कि बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत सभी तरह के प्रबंध किए जाएं। कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क की अनिवार्यता को प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि प्रदेश में 26 से 29 अगस्त, 2021 राष्ट्रपति जी के प्रस्तावित कार्यक्रमों को देखते हुए सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली जाएं।

टेस्टिंग नहीं हो रही कम

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद, टेस्टिंग कम नहीं की जा रही है। गत एक दिन में कुल 1,56,524 सैम्पल की जांच की गयी है। विभिन्न जिलों से आरटीपीआर जांच के लिए 87,851 सैम्पल भेजे गये। प्रदेश में अब तक कुल 7,08,85,900 सैम्पल की जांच की गयी है।

Related Articles